Top
उत्तर प्रदेश

योगीराज : वृद्ध दिव्यांग महिला की लापता बेटी को ढूंढने के लिए पुलिस ने मांगी घूस, भीख मांगकर दिए 12 हजार रुपये

Janjwar Desk
2 Feb 2021 9:05 AM GMT
योगीराज : वृद्ध दिव्यांग महिला की लापता बेटी को ढूंढने के लिए पुलिस ने मांगी घूस, भीख मांगकर दिए 12 हजार रुपये
x
वृद्धा ने बताया कि उसकी बेटी एक महीने पहले लापता हो गई थी। इसकी गुमशुदगी थाना चकेरी में दर्ज है। वृद्धा को आशंका है कि उसकी बेटी को एक दूर का रिश्तेदार ले गया है। आरोप है कि पुलिस लड़की को खोजने की बजाय वसूली में जुट गई।

जनज्वार ब्यूरो/कानपुर। उत्तर प्रदेश की पुलिस की निरंकुशता का आलम अपनी चरम सीमा को लांघता जा रहा है। ऐसा कहा जा सकता है पुलिस खुद कहीं न कहीं अपराधों में भागीदार बन रही है। यदि ऐसा न होता तो अपराध और अपराधी दोनों बेलगाम न होते। कानपुर के चकेरी स्थित सनिगवां में एक गरीब दिव्यांग महिला की बेटी को ढूंढने के लिए पुलिस ने वृद्धा से ही रुपये ऐंठ लिए।

यह शर्मनाक घटना चकेरी के सनिगवां पुलिस चौकी की है। पुलिस की इस करतूत में एक गरीब वृद्धा जो दिव्यांग भी है उसकी बेटी लापता हो गई। वृद्धा ने पुलिस से शिकायत की तो कई इंच की छाती वाली खाखी ने लड़की को ढूंढने के नाम पर गाड़ी और डीजल के लिए 12 हजार रुपये ले लिए। लड़की नहीं मिली तो सोमवार 1 फरवरी को व्रद्धा डीआईजी से गुहार लगाने पहुंच गई जिसके बाद पूरा मामला खुला।

सनिगवां की रहने वाली वृद्धा ने बताया कि उसकी बेटी एक महीने पहले लापता हो गई थी। इसकी गुमशुदगी थाना चकेरी में दर्ज है। वृद्धा को आशंका है कि उसकी बेटी को एक दूर का रिश्तेदार ले गया है। आरोप है कि पुलिस लड़की को खोजने की बजाय वसूली में जुट गई। व्रद्धा ने भीख मांगकर 12 हजार की रकम जुटाकर पुलिस को दी। बावजूद इसके बेटी का पता नहीं चला।

सोमवार को पीड़ित वृद्धा ने अपनी शिकायत सीओ कलक्टरगंज गीतांजलि सिंह के समक्ष दर्ज कराई। महिला सीओ कार्यालय के बाहर बैठी थी तभी वहां डीआईजी प्रीतिंदर सिंह पहुंच गए। डीआईजी वृद्धा को देखकर रुक गए। पूरे मामले की जानकारी की गई। डीआईजी ने अपने वाहन से वृद्धा को घर भिजवाया। डीआईजी ने आश्वासन दिया कि जिन पुलिसकर्मियों ने लापरवाही बरती है और पैसे लिए ह्यन उनपर कार्यवाही की जाएगी।

डीआईजी प्रीतिंदर सिंह ने जनज्वार को बताया कि युवती का पता लगाने के लिए सर्विलांस सहित अन्य टीमों को लगाया है। मामले में डीआईजी ने चौकी इंचार्ज सनिगवां राजपाल सिंह को लाइन हाजिर कर विभागीय जांच के आदेश दिये गये। साथ ही अन्य पुलिसकर्मियों पर लगे आरोपों की जांच कराई जा रही है।

Next Story

विविध

Share it