Top
उत्तर प्रदेश

योगी जी कान खुलकर सुनो मैं श्रमिकों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार हूं : अजय कुमार लल्लू

Janjwar Desk
18 Jun 2020 8:56 AM GMT
योगी जी कान खुलकर सुनो मैं श्रमिकों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार हूं : अजय कुमार लल्लू
x
file photo
अजय कुमार लल्लू ने किया योगी पर कटाक्ष, कहा आप जैसे तानाशाह, गरीब विरोधी और अहंकारी हमें मानवता की सेवा करने से नहीं रोक पाएंगे। मजदूरों की सेवा करने पर हमारे नेताओं पर फर्जी मुकदमे लाद दिये गए हैं...

लखनऊ, जनज्वार। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पैदल चल रहे प्रवासी श्रमिकों के लिए बसें चलवाने की अनुमति मांगी, लेकिन सरकार ने अपनी गरीब विरोधी मानसिकता का परिचय दिया।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को बुधवार 17 जून को लखनऊ सेंट्रल जेल से रिहा कर दिया गया। उन्हें इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने मंगलवार को जमानत दी थी। उन्हें 'बस पॉलिटिक्स' मामले में 21 मई को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से कांग्रेस की ओर से लगातार प्रदर्शन किए जा रहे थे।

रिहा होने के बाद आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में अजय कुमार ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा, मजदूरों की सेवा में लगे हमारे नेताओं के उपर फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार हूं। अजय कुमार लल्लू आज यहां पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा, "योगी सरकार भूल गई है कि हम अंग्रेजों से लड़े हैं। आप जैसे तानाशाह, गरीब विरोधी और अहंकारी हमें मानवता की सेवा करने से नहीं रोक पाएंगे। मजदूरों की सेवा करने पर हमारे नेताओं पर फर्जी मुकदमे लाद दिये गए हैं। मैंने गुड़गांव में खुद मजदूरी की है। मैं श्रमिकों का दर्द समझता हूं। मैं उनके पैरों के छालों का दर्द महसूस कर सकता हूं। योगी जी कान खोलकर सुन लीजिए अपने श्रमिक भाई-बहनों के लिए सौ बार जेल जाने को तैयार हूं।"

उन्होंने कहा, "गरीब विरोधी सरकार ने मुझे 27 दिनों तक जेल में रखा। मुझे अपने वकील तक से नहीं मिलने दिया। मुझे इस बात की परवाह नहीं है। मुझे सिर्फ इस बात की फिक्र थी कि सड़कों पर हजारों की तादाद में लोग पैदल चल रहे होंगे। उनके पांव में छाले पड़ गए होंगे। मुझे इस बात की चिंता थी लोगों तक खाना कैसे पहुंच रहा होगा। मुझे यह बात परेशान कर रही थी कि जो लोग परदेश में हैं, उनकी मदद कैसे हो रही होगी। लेकिन मेरे बहादुर साथियों ने सेवा के सत्याग्रह को रुकने नहीं दिया।"

उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह पल बहुत ही भावुक कर देने वाला है कि हमारी पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के निर्देश पर पूरे प्रदेश में 1 करोड़ 15 लाख लोगों तक भोजन और राशन का बंदोबस्त किया गया। 10 लाख से अधिक लोगों की बाहर दूसरे प्रदेशों में मदद हुई है। मेरी रिहाई के लिए पार्टी ने सेवा सत्याग्रह आंदोलन किया और हर जिले में रसोईघर चलाकर जरूरतमंदों को भोजन कराया गया।

प्रदेश अध्यक्ष ने शहीद हुए जवानों के परिवारों के प्रति अपनी शोक संवेदना भी प्रकट की।

Next Story

विविध

Share it