राजनीति

Rampur ByPolls Update: आजम के गढ़ रामपुर में दांव पर लगी योगी की प्रतिष्‍ठा, जानिए कहां त्रिकोणीय और कहां दिखी सीधी टक्कर?

Janjwar Desk
23 Jun 2022 11:43 AM GMT
Rampur ByPolls Update: आजम के गढ़ रामपुर में दांव पर लगी योगी की प्रतिष्‍ठा, जानिए कहां त्रिकोणीय और कहां दिखी सीधी टक्कर?
x

Rampur ByPolls Update: आजम के गढ़ रामपुर में दांव पर लगी योगी की प्रतिष्‍ठा, जानिए कहां त्रिकोणीय और कहां दिखी सीधी टक्कर?

Rampur ByPolls Update: उत्‍तर प्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ को समाजवादी पार्टी का गढ़ कहा जाता है। इन दोनों ही जिलों में लोकसभा उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी की प्रतिष्‍ठा दांव में लगती दिखाई पड़ रही।

लईक अहमद की रिपोर्ट

Rampur ByPolls Update: उत्‍तर प्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ को समाजवादी पार्टी का गढ़ कहा जाता है। इन दोनों ही जिलों में लोकसभा उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी की प्रतिष्‍ठा दांव में लगती दिखाई पड़ रही। लोकसभा उपचुनाव से पहले आजम खान के जेल से बाहर आने से रामपुर का चुनावी मुकाबला काफी रोचक हो गया है, क्‍योंकि बुधवार की शाम मतदान से पहले जिले कई सपाइयों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस पर सपा के कद्दावर नेता आजम खान ने एक निजी चैनल पर बातचीत में कहा कि अगर वोट प्रतिशत गिराई जाती है तो इसका पूरा इल्जाम प्रशासन पर आएगा।

उत्तर प्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए गुरुवार मतदान केन्‍द्रों पर वोटरों की भारी भीड़ देखने को मिली। अपराह्न एक बजे तक दोनों सीटों में औसतन 27.99 प्रतिशत मतदान हुआ। रामपुर में मतदान का प्रतिशत 26.39 और आजमगढ़ में 29.48 फीसद रहा। रामपुर के कई बूथों में ईवीएम खराब होने से समय से मतदान शुरू नहीं हो सका। दोनों सीटों के लिए शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे।

पूर्वाह्न 11 बजे तक दोनों सीटों के लिए औसतन 19.34 प्रतिशत मतदान हुआ। रामपुर में मतदान का प्रतिशत 18.81 और आजमगढ़ में 19.84 फीसद रहा। वहीं शुरु के दो घंटे में यानि सुबह नौ बजे तक रामपुर और आजमगढ़ में मतदान का प्रतिशत क्रमशः 7.86 और 9.21 प्रतिशत दर्ज हुआ था।इस उपचुनाव में कुल 35.45 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

लोकसभा उपचुनाव रामपुर और आजमगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार अधिकतर मतदान केंद्रों पर मतदान प्रारम्भ होने से पहले ही मतदाताओं की भीड़ जुटने लगी। मतदाताओं में खासा उत्‍साह देखने को मिला।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्वक जारी है। मतदान केंद्रों पर निगरानी रखने के लिए दो सामान्य प्रेक्षक तथा दो व्यय प्रेक्षक तैनात किए गए हैं। इनके अतिरिक्त 291 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 40 जोनल मजिस्ट्रेट, 10 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 433 माइक्रो पर्यवेक्षक भी तैनात किए गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रामपुर लोकसभा सीट के लिए कुल छह उम्मीदवार और आजमगढ़ में एक महिला समेत कुल 13 उम्मीदवार चुनाव मैंदान में हैं।

आजमगढ़ लोकसभा सीट से सपा मुखिया अखिलेश यादव और रामपुर सीट से सपा के ही मो. आजम खान के इस्तीफे के बाद दोनों सीटों के लिये उपचुनाव हो रहा है। दोनों सीटों पर भाजपा और सपा उम्मीदवारों के बीच सीधी लड़ाई देखी जा रही है। हालांकि, आजमगढ़ में बसपा ने लड़ाई को त्रिकोणात्मक बनाने का भरसक प्रयास किया है।

हमें सहना है रहना है – आजम खान

बुधवार की रात रामपुर उपचुनाव से पहले सपाइयों को हिरासत में लिए जाने की कार्रवाई को सपा नेता आजम खान ने सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने एक निजी चैनल से कहा कि हमसे बड़ा अपराधी कौन है? तो हमारे साथ जो चाहे करे...। हमें तो सहना है रहना है। बातचीत में कहा कि सबसे ज्यादा अभद्र व्यवहार थानेगंज के इंस्पेक्टर ने किया है और लोगों के साथ मारपीट भी की। अगर वोट प्रतिशत गिराई जाती है तो इसका इल्जाम पूरा प्रशासन पर आएगा।

रामपुर में सुरक्षा की कड़ी चौकसी

रामपुर में मतदान के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मतदान केंद्रों के बाहर सीआरपीएफ, पैरा मिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है। सिविल पुलिस भी मुस्तैद रही।

पूर्व सीएम की मतदान की अपील

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लोगों से वोटिंग करने की अपील की है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा- 'हर नारी, किसान, नौजवान आगे बढ़कर करें मतदान।'

प्रदेश अध्यक्ष ने प्रेक्षक से की शिकायत

बुधवार छापेमारी करके रामपुर पुलिस ने जिले भर में कई सपाइयों को हिरासत में ले लिया, जिसके बाद अखिलेश यादव की सपा के प्रत्याशी आसिम राजा समर्थकों संग थाने पहुंच गए। हंगामे के बीच कुछ को छुड़ा भी लिया गया। वहीं सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने 25 से ज्यादा सपाइयों को हिरासत में लेने की शिकायत प्रेक्षक से की है। साथ ही सपा के प्रदेश अध्‍यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने भी चुनाव आयोग से शिकायत की है। हालाकि पुलिसयां दावा है कि इन लोगों को रेड कार्ड जारी किए गए थे। इनको पूछतांछ के लिए थाने लाया गया था। चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए कार्रवाई की जा रही है।

Next Story

विविध