उत्तर प्रदेश

Social Media में चर्चा बटोर रहा DM अयोध्या का बैनर, लोग बोले- परिवर्तन की आहट, जबकि असलियत ये है..

Janjwar Desk
2 March 2022 12:36 PM GMT
up news
x

(सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा ये बैनर)

पांच साल पहले यूपी में योगी सरकार बनने के बाद ही डीएम आवास के साथ बसों व सरकारी कार्यालयों बोर्ड के रंग भगवा कर दिए गए थे। इसके पहले अखिलेश सरकार के दौरान सरकारी रंग लाल व हरा में बदला गया था...

Ayodhya News: सोशल मीडिया (Social Media) में एक बैनर चर्चा का विषय बन रहा। जिसपर लोग अपनी-अपनी तरह से प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कोई कह रहा कि ये परिवर्तन की आहट है तो कोई बता रहा कि भगवा रंग उतरने वाला है। हालांकि इस बैनर की सच्चाई क्या है, यह ना हमें पता है ना ही अयोध्या का स्थानीय प्रशासन ही बता पा रहा है।

बुधवार 03 मार्च लगभग 4:00 बजे दोपहर से ये पोस्टर सोशल मीडिया खासकर फेसबुक (Facebook) में छाया हुआ है। जिसे जिलाधिकारी अयोध्या के सरकारी आवास के बाहर लगता हुआ दिखाया जा रहा है। इसमें देखा जा सकता है कि पहले भगवा रंग के लगे पोस्टर को उतारकर उसके उपर डार्क हरे रंग का बैनर चढ़ाया जा रहा है।

डीएम के आवास पर लगे बोर्ड में भले ही कोई कमी ना थी, लेकिन इसके भगवा रंग को बदलकर अब हरा कर दिया गया है। भगवा बोर्ड का रंग बीजेपी के झंडे से मिलता था, लेकिन हरे रंग का कनेक्शन अब समाजवादी पार्टी से जोड़ा जा रहा है। अखिलेश यादव के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों को पोस्ट करते हुए लिखा है कि यूपी में सरकार बदलने जा रही है, इसलिए अफसर भी डर के मारे ऐसा कर रहे हैं।

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता आईपी सिंह ने डीएम के बंगले का बोर्ड बदलने की फोटो ट्वीट करते हुए लिखा है कि, 'योगी के इशारे पर नाचने वाले अफसरों के होश उड़े। आनन-फानन में कहीं सड़कों पर गड्ढे भरने लगे तो कहीं साफ सफाई शुरू करा दी। डीएम अयोध्या समेत तमाम अफसरों के कान खड़े हो गए। आजमगढ़ में 5 वर्ष बाद 24 घण्टे निर्बाध बिजली शुरू हो गई।'

डीएम ने क्या कहा?

इस विषय में जनज्वार ने स्थानीय सूत्रों से संपर्क किया तो कोई ठीक पुष्टी नहीं कर पाया। वहीं, डीएम नितीश कुमार ने इसके बारे में अनिभिज्ञता जाहिर करते हुए बताया कि उनका आवास पीडब्ल्यूडी विभाग के डाक बंगले में हैं। डाक बंगले के रेनोवेशन के साथ विभाग ने हरे रंग का आवासीय बोर्ड लगवाया है।

उन्होंने कहा कि यह परिवर्तन गलत समय में किया गया है। जिसके बारे में पीडब्ल्यूडी अधिकारियों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि पीडब्ल्यूडी की कलर नीति के तहत ही बोर्ड का रंग बदला गया है। सभी डाक बंगलों व विभागीय बोर्ड हरे रंग के किए जा रहे हैं। डीएम आवास के डाक बंगले का बोर्ड का रंग भी उसी के तहत बदला गया है।

2017 में हुआ था भगवाकरण

पांच साल पहले यूपी में योगी सरकार बनने के बाद ही डीएम आवास के साथ बसों व सरकारी कार्यालयों बोर्ड के रंग भगवा कर दिए गए थे। इसके पहले अखिलेश सरकार के दौरान सरकारी रंग लाल व हरा में बदला गया था। बिना सत्ता परिवर्तन के रंगों की सियासत के कई मायने निकाले जा रहे हैं। सपा के नेता इसे योगी सरकार की विदाई कह कर प्रचारित कर रहे हैं।

Next Story

विविध