Top
राष्ट्रीय

सपा प्रमुख अखिलेश यादव के दावे से गरमाया माहौल, बोले-यूपी विधानसभा चुनावों में जीतेंगे 350 सीट

Janjwar Desk
22 July 2021 3:07 AM GMT
सपा प्रमुख अखिलेश यादव के दावे से गरमाया माहौल, बोले-यूपी विधानसभा चुनावों में जीतेंगे 350 सीट
x

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि यूपी विधानसभा चुनावों में 350 सीटें जीतेंगे (File pic)

समाजवादी पार्टी प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह दावा कर राजनीतिक माहौल को गरमा दिया है कि यूपी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी 350 सीट जीतेगी..

जनज्वार। उत्तरप्रदेश में आसन्न विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी धीरे-धीरे जोर पकड़ रही है। खासकर विपक्षी दल इस बार कोई मौका चूकना नहीं चाहते। विपक्ष योगी सरकार की नाकामियों को जनता के बीच ले जाकर मुद्दा बनाने की जुगत में तो लगा ही है, विपक्ष के वोटों में ज्यादा बिखराव न हो, यह कोशिश भी हो रही है। इन सबके बीच समाजवादी पार्टी प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह दावा कर राजनीतिक माहौल को गरमा दिया है कि यूपी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी 350 सीट जीतेगी।

प्रदेश के उन्नाव के दौरे पर आए अखिलेश यादव ने कहा, "आगामी चुनाव में समाजवादी पार्टी अपने गठबंधनों के साथ 350 सीटें जीतने जा रही है।"

अन्य दलों के साथ गठबंधन के मुद्दे पर भी उन्नाव में अखिलेश यादव खुलकर बोले। उन्होंने कहा, "समाजवादी पार्टी ने फैसला किया है कि बड़े दलों से गठबंधन नहीं होगा। पार्टी छोटे दलों को साथ लेकर चलने का काम करेगी और जिसको भी बीजेपी को हराना है उसके लिए समाजवादी पार्टी के दरवाज़े खुले हैं।"

हालांकि, अखिलेश यादव के इस बयान के बाद फौरी तौर पर यह स्पष्ट हो गया है कि राज्य में तीनों मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस का एक-दूसरे के साथ या फिर इनमें से किन्हीं दो दलों का आपस में गठबंधन नहीं होने जा रहा। चूंकि बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती यूपी विधानसभा चुनाव में किसी गठबंधन की संभावना को पहले ही नकार चुकी हैं।

अखिलेश यादव ने उन्नाव में दिए बयान से पहले भी गठबंधन पर अपने दल का नजरिया खुला होने की बात कह चुके हैं। बीते सप्ताह भी उन्होंने कहा था, "समाजवादी पार्टी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ ही शिवपाल सिंह यादव की पार्टी के साथ तालमेल करने के लिए तैयार है।"

इस दौरान अखिलेश यादव ने यह भी दावा किया था कि असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ने की योजना से उनके अल्पसंख्यक वोटों पर फ़र्क नहीं पड़ेगा।

मौजूदा भाजपा सरकार को नाकाम बताते हुए उन्होंने ये भी कहा कि आज उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के पास अपना कोई ऐसा वोट नहीं है जिसके सहारे वो यहां एक मज़बूत ताक़त के रूप में उभर सके।

Next Story

विविध

Share it