Top
उत्तर प्रदेश

शराब से बढ़ेगा पर्यटन, योगी सरकार ट्रेन, क्रूज और एयरपोर्ट में बार खोलने का लायी प्रस्ताव

Janjwar Desk
13 Dec 2020 7:05 AM GMT
शराब से बढ़ेगा पर्यटन, योगी सरकार ट्रेन, क्रूज और एयरपोर्ट में बार खोलने का लायी प्रस्ताव
x

प्रतीकात्मक तसवीर।

पर्यटन को बढ़ाने और ईज ऑफ़ डूइंग बिजनेस के लिए नई बार लाइसेंस स्वीकृति नियमावली 2020 को उत्तरप्रदेश सरकार ने मंजूरी दे दी है। इससे ट्रेनों, एयरपोर्ट व क्रूज में भी बार खोलना संभव हो पाएगा...

लखनऊ, जनज्वार। उत्तर प्रदेश सरकार ने शराब से कमाई के लिए लॉकडाउन के दौरान भी दुकानें खोलकर खूब माल बटोरा था। अब योगी सरकार ने बार लाइसेंस स्वीकृति नियमावली - 2020 के तहत प्रदेश के एयरपोर्ट, ट्रेन और क्रूज में भी बार खोलने का फैसला किया है। सरकार इसे पर्यटन को बढ़ावा देने का कदम बता रही है।

सरकार के मुताबिक पर्यटन को बढ़ाने और ईज ऑफ़ डूइंग बिजनेस के लिए नई बार लाइसेंस स्वीकृति नियमावली 2020 को मंजूरी दे दी है। इसके तहत अब एक ओर ईज ऑफ़ डूइंग बिजनेस के लिए जहां उत्तर प्रदेश आबकारी विभाग की बार लाइसेंस नियमावली का सरलीकरण किया गया है, तो वहीं दूसरी ओर प्रदेश में हवाई अड्डों के लाउन्ज और विशेष ट्रेनों के साथ घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रूज में भी बार लाइसेंस देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है।

साथ ही साथ अब हर एक बार और क्लब लाइसेंस की जियो टैंगिग कराते हुए पारदर्शिता लाने के लिए आवेदन की प्रक्रिया को भी ऑनलाइन कर दिया गया है। आबकारी विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि प्रदेश में मौजूदा बार लाइसेंसों की जटिल प्रक्रिया का नई बार लाइसेंस स्वीकृति नियमावली - 2020 में सरलीकरण कर दिया गया है।

इस नियमावली के तहत अब शासन स्तर के अनुमोदन और कमिश्नर की अध्यक्षता में गठित समिति की संस्तुति को समाप्त कर डीएम की अध्यक्षता में गठित समिति की संस्तुति पर आबकारी आयुक्त को स्वीकृति देने का प्रावधान किया गया है। जिला स्तरीय बार समिति के निर्णय से असंतुष्ट होने पर मंडलाय़ुक्त के समक्ष अपील करने की भी व्यवस्था की गई है।

अनुमोदन की कार्रवाई का विकेंद्रीकरण और प्रक्रिया का सरलीकरण करते हुए ट्रांजेक्शन स्टारों की संख्या 28 से घटकर 9 रह जायेगी। जिससे मेहमानदारी उद्योग को जल्द लाइसेंस स्वीकृति मिलने के साथ राजकोष की आय में भी वृद्धि होगी।

Next Story
Share it