Top
उत्तर प्रदेश

महिलाओं पर अत्याचार रोकने में असफल योगी सरकार नवरात्र में चलाएगी 'मिशन शक्ति अभियान'

Janjwar Desk
12 Oct 2020 2:03 PM GMT
महिलाओं पर अत्याचार रोकने में असफल योगी सरकार नवरात्र में चलाएगी मिशन शक्ति अभियान
x

file photo

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला सुरक्षा, गरिमा और सशक्तीकरण को जनांदोलन बनाने की आवश्यकता है, मिशन शक्ति इसका आधार बनेगी.....

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सामूहिक दुष्कर्म के मामलों में जिस तरह से इजाफा होता जा रहा है उससे साफ है कि प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था को ठीक रूप से चला नहीं पा रही है। पर लगता है कि देश की सरकार की तरह योगी सरकार को भी जुमलेबाजी में महारत हासिल होते जा रही है। लोग इसे योगी का जंगलराज भी कहने लगे हैं।

अब उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे महिला अपराध पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने कानून की सख्ती के साथ जनजागरण अभियान चलाने का बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्र में 17 से 25 अक्टूबर तक नारी सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए मिशन शक्ति अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र के राम नवमी तक चलने वाले इस विशेष अभियान में ग्राम पंचायत से लेकर औद्योगिक इकाइयों तक, स्कूल कैम्पस से लेकर सरकारी विभागों तक, दुर्गा पंडालों से लेकर रामलीला के मंच तक, हर जगह महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान के भाव को बढ़ाने के लिए मिशन रूप में काम किया जाएगा।

सरकार के इस काम में पुलिस विभाग के साथ-साथ बेसिक, उच्च, माध्यमिक, प्राविधिक शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास, एमएसएमई सहित 23 विभागों के साथ-साथ व्यापारी, चिकित्सक, उद्यमी सहित विभिन्न निजी व गैर सरकारी संस्थाएं इस महत्वपूर्ण अभियान में भागीदार होंगी। यही नहीं परिवहन विभाग के साथ-साथ ओला और उबर जैसे निजी परिवहन तंत्र भी इसमें हिस्सा लेंगे।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश की एक-एक बालिका और महिला की सुरक्षा, गरिमा और सशक्तिकरण सुनिश्चित करने का संकल्प लेते हुए मिशन शक्ति को सफल बनाने का निर्देश दिया है। योगी ने कहा कि महिला सुरक्षा, गरिमा और सशक्तीकरण को जनांदोलन बनाने की आवश्यकता है। मिशन शक्ति इसका आधार बनेगी।

उन्होंने कहा अभियान के पहले चरण में जागरूकता पर हमारा सर्वाधिक जोर होगा। शारदीय नवरात्र के नौ दिन नारी गरिमा और सशक्तीकरण थीम पर अलग-अलग अनेक कार्यक्रम अयोजित किये जायेंगे। लघु फिल्म प्रदर्शन, सुरक्षा शपथ, नुक्कड़ नाटक, महिलाओं से जुड़े कानूनों का प्रचार तथा सफल महिलाओं की प्रेरक कहानियां प्रसारित करने जैसे प्रयास लोगों को जागरूक करने में सहायक होंगे। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को गांव से लेकर वार्ड तक ले जाना होगा। स्कूलों से औद्योगिक इकाइयों तक इस विषय पर जागरूकता बढ़ानी होगी। अंतर्विभागीय समन्वय से इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम को सफल बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि जागरूकता के साथ-साथ इंफोर्समेंट की प्रभावी कार्यवाही भी चलती रहनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने इसके लिए विभागवार विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि प्रदेश के हर थाने पर महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जाए। उन्होंने वीमेन पावर लाइन 1090 को अधिक प्रभावी बनाने के भी निर्देश दिए।

Next Story
Share it