Top
उत्तर प्रदेश

मुख्तार को रोपड़ जेल से लाने गई यूपी पुलिस लौटी खाली हाथ, राज्य की याचिका पर सुप्रीम में आज सुनवाई भी

Janjwar Desk
11 Jan 2021 4:32 AM GMT
मुख्तार को रोपड़ जेल से लाने गई यूपी पुलिस लौटी खाली हाथ, राज्य की याचिका पर सुप्रीम में आज सुनवाई भी
x
एक बार फिर मुख्तार को यूपी लाने पंजाब गयी यूपी पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा है। इस बीच आज इस संबंध में राज्य सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के सीएम बनते ही योगी और मुख्तार (Mukhtar Ansari) की दबी दुश्मनी ने तूल पकड़ लिया है। गोरखपुर के गढ़ से निकलकर प्रदेश की सत्ता सम्हालने तक योगी बाहुबलियों के पीछे पड़े हुए हैं। तमाम सगे संबंधियों को सलाखों के पीछे भेजने सहित इनकी संपत्तियां भी जमींदोज की जा चुकी हैं। अब योगी का टारगेट मुख्तार को यूपी लाना जान पड़ रहा है। जिसके तहत पंजाब के रोपड़ जेल में बंद मुख्तार को गाजीपुर पुलिस लेने गई पर उसे खाली हाथ ही लौटना पड़ा।

यूपी के मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को पंजाब के रोपड़ जेल से लेने गई गाजीपुर पुलिस को वापस भेज दिया गया है। रोपड़ जेल अधीक्षक ने यह कहते हुए टीम को वापस भेजा कि वह अभी बीमार है, उसे उत्तर प्रदेश ले जाने की इजाजत नहीं दे सकते। दूसरी तरफ आज सोमवार, 11 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार को यूपी लाने के लिए सुनवाई होनी है। मुख्तार को आज की सुनवाई के लिए यूपी लाना था।

दरअसल यूपी पुलिस (UP Police) ने पंजाब सरकार (Punjab Government) के रुख को मद्देनजर रखते हुए मुख्तार को यूपी लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर कर रखी है। जिसकी आज सुनवाई है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने रोपड़ जेल अधीक्षक को नोटिस भी जारी किया था। गाजीपुर पुलिस नोटिस लेकर शनिवार 9 जनवरी को रोपड़ जेल पहुंची थी। जेल अधीक्षक ने नोटिस तो रिसीव किया लेकिन मुख्तार को मेडिकल ग्राउंड पर यूपी भेजने से इनकार कर दिया।

जेल अधीक्षक ने मुख्तार(Mukhtar Ansari) को यूपी ना भेजने का जो तर्क दिया है उसमें कहा गया है कि मुख्तार अंसारी अभी लंबी यात्रा करने की हालत में नहीं है। इसलिए अभी उसे ले जाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। कोर्ट की नोटिस मामले में जेल अधीक्षक दलजीत सिंह ने कहा कि वह कोर्ट की नोटिस का जवाब जल्दी ही अदालत में दाखिल करेंगे।

बता दें कि इससे पहले भी मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को यूपी लाने के लिए प्रदेश की पुलिस खाली हाथ वापस लौट चुकी है। 2020 की 21 अक्टूबर को प्रयागराज के एमपी-एमएलए कोर्ट में मुख्तार की पेशी के लिए यूपी पुलिस पंजाब गई थी। लेकिन मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर पंजाब जेल प्रशासन ने उसे यूपी पुलिस को सौंपने से इनकार कर दिया था।

जानकारों की मानें तो मुख्तार अंसारी का पैसा पंजाब के रियल स्टेट कारोबार में लगाया जा रहा है। उसके इस कारोबार की देखरेख कई मामलों में वांछित चल रहा उसका साला शहजाद करता है। कारोबार में मुख्तार और शहजाद की मदद पंजाब का एक नामी गैंगस्टर कर रहा है। यह मुख्तार का दोस्त भी है। मुख्तार का परिवार पंजाब के रोपड़ में ही किराए की कोठी में रह रहा है। जहां से हर बुधवार को रोपड़ जेल में मिलाई करने जाता है।

Next Story

विविध

Share it