Top
उत्तर प्रदेश

'जंगलराज' : पीलीभीत में शौच के लिए गईं दो बहनों की मिली लाश, बेमानी हुआ विज्ञापन में सुरक्षित उत्तर प्रदेश

Janjwar Desk
23 March 2021 11:50 AM GMT
जंगलराज : पीलीभीत में शौच के लिए गईं दो बहनों की मिली लाश, बेमानी हुआ विज्ञापन में सुरक्षित उत्तर प्रदेश
x
उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में दो सगी बहनों की लाशें मिली हैं। दोनों बहनें नजदीक खेत में शौच के लिए घर से बाहर निकली थीं...

जनज्वार ब्यूरो/पीलीभीत। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में सोमवार शाम दो सगी बहनें अचानक कहीं लापता हो गई। ढूंढने पर रात ग्यारह बजे के आसपास एक का शव हाईवे पर सड़क किनारे पड़ा मिला। इसके छह घंटे बाद दूसरी बेटी का शव पेड़ पर फंदे से लटका मिला। दोनों के गले पर चोट के निशान भी पाए गए हैं। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है तथा छानबीन में जुट गई है।

पीलीभीत के बिलसंडा थाना क्षेत्र स्थित गांव बिलासपुर निवासी कमला देवी ने बताया कि उनके पति भूपराम शर्मा की मौत हो चुकी है। वह परिवार समेत बीसलपुर के जसोली गांव में ईंट भट्ठे पर मजदूरी करती हैं और नजदीक में ही झोपड़ी बनाकर रहती हैं। सोमवार 22 मार्च की शाम सात बजे उनकी 20 वषीय बेटी पूजा और 17 वर्षीय बेटी अनिष्का शौच के लिए नजदीक के खेत पर गई थी।

इसके बाद दोनों लापता हो गई। काफी देर बाद भी जब बेटियां वापस नहीं आई तो उन्होंने अन्य मजदूरों की मदद से तलाश शुरू कर दी। देर रात करीब साढ़े ग्यारह बजे छोटी बेटी अनिष्का का शव भट्ठे से सौ मीटर दूर पीलीभीत-बीसलपुर मार्ग पर सड़क किनारे पड़ा मिला। उसके गले पर चोट के निशान थे। वह उसका शव उठाकर घर ले आई।

कमला कहती हैं कि वह शव घर पर रखने के बाद पुलिस को सूचना दिए बिना दूसरी बेटी की तलाश में जुट गई। मंगलवार सुबह करीब छह बजे भट्टे से दो सौ मीटर दूर एक गन्ने के खेत में यूकेलिप्टिस के पेड़ पर पूजा का शव फंदे पर लटका मिला। फिर पुलिस को सूचना दी गई।

सूचना पाकर कुछ ही देर में एसपी जयप्रकाश, एएसपी डॉ पवित्र मोहन त्रिपाठी पुलिस बल के साथ पहुंचे। शव को नीचे उतारकर कब्जे में लिया गया। घटनास्थल के पास से मिले एक मोबाइल को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। डॉग स्क्वॉड और फील्ड यूनिट टीम भी बुलाई गई। दोनों बहनों की गला दबाकर हत्या की आशंका जताई गई है। हालांकि परिवार कोई रंजिश नहीं बता रहा है। दरिंदगी को लेकर भी पुलिस जांच कर रही है।

रोहिणी सिंह इस घटना पर लिखती हैं कि 'पीलीभीत की घटना भयावह उत्तरप्रदेश की दास्ताँ बयां कर रही है। 18 वर्ष और 20 वर्ष की दो सगी बहने शाम 7 बजे घर से निकली, एक बहन पेड़ से लटकी हुई मिली तो दूसरे के शव खेत में मिला। दोनों के गले पर चोट के निशान हैं। पूछता है भारत...कहाँ है विज्ञापनों वाला 'सुरक्षित उत्तरप्रदेश'?'

Next Story

विविध

Share it