Top
उत्तर प्रदेश

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटों पर यूपी पुलिस ने रखा इनाम, पत्नी और सालों पर लग चुका है गैंगस्टर

Janjwar Desk
16 Sep 2020 7:20 AM GMT
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटों पर यूपी पुलिस ने रखा इनाम, पत्नी और सालों पर लग चुका है गैंगस्टर
x

योगी सरकार मुख्तार के दोनों बेटों पर पहले ही कस चुकी है शिकंजा 

योगी सरकार ने बाहुबली विधायक के आर्थिक साम्राज्य पर शिकंजा कस दिया है और उसकी 48 करोड़ रुपये प्रति वर्ष की आय पर रोक लगा दी है। वाराणसी, गाजीपुर, मऊ और जौनपुर में उसकी संपत्तियों को या तो जब्त कर लिया गया है या ध्वस्त कर दिया गया है...

लखनऊ, जनज्वार। लखनऊ पुलिस ने बहुजन समाज पार्टी के विधायक और माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है। ये दोनों भाई अवैध जमीन पर कब्जा करने के मामलों को लेकर वॉन्टेड हैं।

अब्बास अंसारी ने अंतरराष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक जीता है। वहीं 2017 में घोसी सीट से बसपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था, जिसमें उसे हार का सामना करना पड़ा था।

2 दिन पहले ही गाजीपुर पुलिस ने मुख्तार की पत्नी अफशा अंसारी, उसके भाइयों- शर्जील राजा और अनवर शहजाद के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत जमीन पर कब्जा करने, गबन करने समेत अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया था।

लखनऊ के पुलिस आयुक्त सुजीत पांडे ने कहा कि अब्बास और उमर के खिलाफ जमीन कब्जाने और अवैध निर्माण के मामले में मामले दर्ज किए गए थे। हाल ही में राज्य सरकार ने पॉश इलाके डालीबाग में अब्बास अंसारी की दो इमारतों का ढहाया था।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस ने अदालत से दोनों भाइयों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी करने को कहा था।

वहीं पुलिस मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश लाने की भी तैयारी कर रही है, जो कि अभी पंजाब की रोपड़ जेल में बंद है।

सूत्रों के अनुसार, राज्य सरकार ने डॉन के आर्थिक साम्राज्य पर शिकंजा कस दिया है और उसकी 48 करोड़ रुपये प्रति वर्ष की आय पर रोक लगा दी है। वाराणसी, गाजीपुर, मऊ और जौनपुर में उसकी संपत्तियों को या तो जब्त कर लिया गया है या ध्वस्त कर दिया गया है।

इस मामले में जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर व अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। सुरजन लाल का आरोप था कि जिस जमीन पर मुख्तार के बेटों ने टॉवर बनवाए थे, वह मो. वसीम की थी।

करोड़ों रुपये की अनाधिकृत जमीन से कब्जा हटवाने के बाद प्रशासन ने मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी व उनके साले सरजील रजा और अनवर शहजाद पर गैंगस्टर की कार्रवाई की थी। पुलिस का आरोप है कि मुख्तार के साथ मिलकर सभी संगठित आपराधिक गिरोह के रूप में अपराध करते है। सभी के खिलाफ गाजिपुर कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Next Story

विविध

Share it