Top
उत्तर प्रदेश

UP : विधानसभा सत्र शुरू होने से तीन दिन पहले 24 कर्मी कोरोना संक्रमित, विधायकों की भी होगी जांच

Janjwar Desk
18 Aug 2020 2:53 AM GMT
UP : विधानसभा सत्र शुरू होने से तीन दिन पहले 24 कर्मी कोरोना संक्रमित, विधायकों की भी होगी जांच
x
विधानसभा अध्यक्ष के निर्देश पर सभी कर्मचारियों की कोरोना जांच करायी जा रही है। विधायकों व विधान परिषद सदस्यों की भी कोरोना जांच करायी जाएगी।

जनज्वार। उत्तरप्रदेश विधानसभा का सत्र शुरू होने से तीन दिन पहले विधानसभा के 24 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना संक्रमित पाए गए कर्मियों में अधिकारी, कर्मचारी व सुरक्षाकर्मी शामिल हैं। 20 अगस्त से राज्य का विधानसभा सत्र शुरू होने वाला है। उसके ठीक पहले इतनी बड़ी संख्या में विधानसभा कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने से खलबली मच गई है। ये आंकड़े सोमवार को आए हैं।

विधानसभा सत्र के आरंभ होने पर वहां विधायकों, मंत्रियों के साथ सचिवालय के अधिकारियों व कर्मियों का आना जाना भी होता है। पत्रकार भी न्यूज कवरेज के लिए जाएंगे। ऐसे में विधानसभा के कर्मियों में कोरोना संक्रमण के एक साथ इतने मामले पाए जाने से चिंता बढ गई है।

कर्मियों में कोरोना संक्रमण का पता तब चला जब एहतियात के तौर पर सत्र शुरू होने से पहले उनकी कोरोना जांच करायी गई। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सत्र आरंभ होने से पहले सभी कर्मचारियों, अधिकारियों व सुरक्षा कर्मियों की कोरोना जांच कराने का निर्देश दिया है। इस आदेश के तहत विधानसभा व विधान परिषद सदस्यों की भी कोरोना जांच करायी जाएगी।

लखनऊ के एसीएमओ डॉ एमके सिंह के बताया कि सोमवार की देर शाम तक 622 अधिकारी, कर्मचारी व सुरक्षा में तैनात कर्मियों की जांच हो चुकी थी और उनमें से 22 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। वहीं, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा है कि 24 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया है और सभी को आइसोलेट कर दिया गया है। अब इनके संपर्क में आए लोगों की भी कोरोना जांच होगी।

विधानसभा का सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है ताकि संक्रम्रण का खतरा कम हो। विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप दुबे ने संबंधित अधिकारियों को कोरोना से बचाव के सभी उपाय करने के निर्देश दिए हैं।

20 अगस्त से शुरू होने वाले चार दिवसीय सत्र में कैंटीन को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। विधानसभा अध्यक्ष ने विभिन्न दलों के नेताओं के साथ बैठक में कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए सत्र बुलाने का निर्णय लिया।

दर्शक दीर्घा में भी विधायकों को बैठाने की व्यवस्था की गई है ताकि शारीरिक दूरी बनी रहे। विधानसभा परिसर में कम से कम लोग आएं, इसके लिए पूर्व विधायकों व सांसदों का पास भी इस सत्र के दौरान स्थगित किया गया है।

Next Story

विविध

Share it