Top
उत्तर प्रदेश

ओडिशा से दिल्ली आ रही किसान यात्रा के मार्ग में यूपी की योगी सरकार बाधा उत्पन्न कर रही है : दारापुरी

Janjwar Desk
20 Jan 2021 1:33 PM GMT
ओडिशा से दिल्ली आ रही किसान यात्रा के मार्ग में यूपी की योगी सरकार बाधा उत्पन्न कर रही है : दारापुरी
x

ओडिशा से दिल्ली के लिए चली किसान यात्रा का दृश्य। फोटो : सोशल मीडिया से।

ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने आरोप लगाया है कि यात्रा को वाराणसी में रात में रूकने नहीं दिया गया और फिर लखनऊ आने से भी इस यात्रा को रोका गया...इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने आरोप लगाया है कि यात्रा को वाराणसी में रात में रूकने नहीं दिया गया और फिर लखनऊ आने से भी इस यात्रा को रोका गया...

जनज्वार। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डेढ महीने से अधिक समय से जारी किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए बीते दिनों किसानों का एक जत्था ओडिशा से रवाना हुआ है। यह जत्था ओडिशा से झारखंड, बिहार होते हुए उत्तरप्रदेश प्रवेश कर चुका है, लेकिन अब यूपी में इसके रास्ते में बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं। ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता पूर्व आइपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी ने आरोप लगाया है कि ओडिशा से चली किसान यात्रा में यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार बाधा डाल रही है।

दारापुरी ने किसान यात्रा में उत्तरप्रदेश की भाजपा सरकार की कोशिशों की निंदा की है। उन्होंने इस कृत्य की निंदा करते हुए कहा कि नव निर्माण किसान संगठन के राष्ट्रीय संयोजक अक्षय कुमार के नेतृत्व में ओडिशा से दिल्ली के लिए चली किसान यात्रा को मंगलवार की रात वाराणसी में रूकना था, लेकिन वहां के प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं दी।

दारापुरी के अनुसार, ऐसे में किसानों को मजबूरन जौनपुर में रूकना पड़ा, जहां से उन्हें लखनऊ होते दिल्ली जाना था, पर प्रशासन ने यात्रा में शामिल लोगों को लखनऊ आने से रोक दिया। उन्होंने कहा कि यूपी प्रशासन की असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक कार्रवाई के खिलाफ अक्षय कुमार ने उपवास भी शुरू किया है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन के लिए दिल्ली आ रहे लोगों के यात्रा में बाधा डालना संविधान प्रदत्त मौलिक अधिकारों का हनन है और यह कार्रवाई उसके खिलाफ है। उन्होंने कहा कि संविधान का अनुच्छेद 19 स्पष्ट रूप से यह कहता है कि देश के हर नागरिक को कहीं भी आने-जाने का अधिकार है।

मालूम हो कि जब यह जत्था झारखंड से गुजरा था तो स्थानीय स्तर पर उसका सहयोग किया गया था, लेकिन यूपी में प्रवेश करने के बाद दिक्कतें आनी शुरू हो गयीं। झारखंड में इस किसान यात्रा का राज्य के कृषि मंत्री व कांग्रेस नेता बादल पत्रलेख ने खुद स्वागत किया था। वहीं, बिहार में भी भाजपा विरोधी दलों ने इस यात्रा का स्वागत किया था।

Next Story

विविध

Share it