Top
उत्तर प्रदेश

विकास दुबे केस : शहीद CO ने पूर्व SSP पर लगाये थे गंभीर आरोप, वायरल ऑडियो ने खोले कई और राज

Janjwar Desk
7 Aug 2020 5:47 AM GMT
विकास दुबे केस : शहीद CO ने पूर्व SSP पर लगाये थे गंभीर आरोप, वायरल ऑडियो ने खोले कई और राज
x
शहीद सीओ देंवेंद्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण बृजेंद्र श्रीवास्तव की मोबाइल पर हुई बातचीत सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है...

कानपुर। कानपुर के बिकरू कांड जिसमें बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी शहीद हुए थे, उसको लेकर हर दिन नया खुलासा हो रहा है।

कल 6 अगस्त को दबिश से ठीक पहले शहीद सीओ देंवेंद्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण बृजेंद्र श्रीवास्तव की मोबाइल पर हुई बातचीत सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस वीडियो ने सनसनी फैला दी है और पुलिस का चेहरा भी बेनकाब कर दिया है।

आडियो के बतौर सामने आई बातचीत के दौरान सीओ देवेंद्र मिश्रा पूर्व एसएसपी अनंत देव पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगा रहे हैं। इस आडियो में इस बात की भी आशंका जतायी जा रही है कि एसओ विनय तिवारी की विकास दुबे के साथ जुगलबंदी थाने में ही दो चार पुलिसकर्मियों की मौत का कारण बनेगी।

यह बातचीत कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई को दबिश से कुछ देर पहले की है। सीओ देवेंद्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण बृजेश श्रीवास्तव के बीच हुई बातचीत के तीन आडियो सामने आये हैं, जिसने पुलिस-माफिया गठजोड़ की कलई भी खोली है।

वायरल आडियो में सीओ देवेंद्र मिश्रा इस बात की आशंका जता रहे हैं कि पूर्व एसओ ने ही दबिश की जानकारी विकास दुबे को दे दी होगी। वे यह भी आरोप लगा रहे हैं कि पूर्व कप्तान को 5 लाख रुपए दिए गए थे। इसके अलावा सीओ देवेंद्र मिश्रा की पूर्व एसओ विनय तिवारी के बीच हुई बातचीत की दो ऑडियो क्लिप वायरल हो रही हैं।

वायरल ऑडियो में दिवंगत सीओ देवेंद्र मिश्रा एसपी ग्रामीण को कह रहे हैं कि विनय तिवारी (पूर्व एसओ) ने ही विकास दुबे को दबिश की जानकारी दे दी होगी। वह इसलिए नहीं जा रहा क्योंकि उससे कहेगा कि सीओ ने फोर्स लेकर दबिश मारी थी। शहीद सीओ ने एसपी ग्रामीण को यह भी बताया कि अब तक एसओ ने फोन करके विकास दुबे से कह दिया होगा कि दबिश पड़ने वाली है, भाग जाओ।

शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण के बीच की बातचीत के वायरल ऑडियो में देवेंद्र मिश्रा बता रहे हैं कि जिसकी शिकायत पर पुलिस विकास दुबे गांव बिकरू में दबिश देने जा रही है यानी वादी राहुल तिवारी और आरोपित विकास दुबे का गांव आसपास ही है। ऐसा समझ लीजिये कि दोनों एक ही गांव के हैं। इसके जवाब में एसपी ग्रामीण कहते हैं कि गांव में फोर्स लगाने की जरूरत पड़ेगी।

शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा SP को वायरल वीडियो में यह भी जानकारी दे रहे हैं कि एसओ विनय तिवारी विकास दुबे के पैर छूता है। एसपी ने कहा ऐसा है। तब सीओ ने कहा कि एसओ कहता है कि अपराधी ही अपराधी की सूचना देता है साहब। इसके बाद सीओ ने यह भी कहा कि साहब इसकी यही हरकत थाने में दो चार को मरवा देगी।

इस वायरल वीडियो में शहीद देवेंद्र मिश्रा यह भी आरोप लगा रहे हैं कि थाना प्रभारी विनय तिवारी पर पूर्व एसएसपी अनंतदेव ज्यादा हाथ रख दिया था। एसओ डेढ़ लाख रुपये में जुआ कराता था। उन्होंने उसके क्षेत्र में जाकर जुआ पकड़ा और बिल्हौर में मुकदमा दर्ज कराया। एसएसपी अनंत देव ने थाना प्रभारी के खिलाफ रिपोर्ट मांगी और उसे तत्काल निलंबित करने को कहा। उन्होंने रिपोर्ट भी दी, मगर विनय तिवारी ने गैंगस्टर एक्ट लगाने की धमकी देकर आरोपितों से 5 लाख रुपये लिये और एसएसपी अनंतदेव को दे दिए। इसके बाद बजाय कार्रवाई के विनय तिवारी के खिलाफ चल रही जांच ही बंद करवा दी गयी। सीओ कल्याणपुर जो जांच कर रहे थे, वह भी बंद करा दी गयी।

Next Story
Share it