Top
उत्तर प्रदेश

गायब बेटी को ढूंढ़ने की पुलिस ने मांगी 1 लाख कीमत, पिता ने आत्महत्या कर छोड़ा सुसाइड नोट, पुलिस ने फाड़ा तो ग्रामीणों ने दौड़ाकर पीटा

Janjwar Desk
12 April 2021 1:19 PM GMT
गायब बेटी को ढूंढ़ने की पुलिस ने मांगी 1 लाख कीमत, पिता ने आत्महत्या कर छोड़ा सुसाइड नोट, पुलिस ने फाड़ा तो ग्रामीणों ने दौड़ाकर पीटा
x
चौकी में मौजूद पुलिसकर्मियों ने बेटी को ढूंढकर लाने के एवज में एक मजबूर बाप से एक लाख रुपये की डिमांड कर डाली। जब पीड़ित ने इतने ज्यादा रुपये न होने की बात कही तो उसे कथित रूप से पुलिसकर्मियों ने वहां से खदेड़ दिया, इसके बाद भी पांच दिन तक पिता बेटी के लिए इधर-उधर भटक कर पुलिस से गुहार लगाता रहा, मगर किसी ने भी उसकी आवाज नहीं सुनी...

जनज्वार, बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसके बाद पुलिस के प्रति जनता का गुस्सा खुलकर सामने आया। यहां कथित रूप से अपने प्रेमी के साथ गयी बेटी को तलाशने के लिए जब पिता ने पुलिस से गुहार लगायी तो पुलिस ने उससे बदले में 1 लाख रुपये मांगे। पिता कई बार थाने में आया, मगर पुलिस उसे भगा देती, जिससे परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली और अपने पीछे एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसमें अपनी मौत का जिम्मेदार पूरी चौकी के पुलिसकर्मियों को ठहराया था।

कथित रूप से पुलिस ने वह सुसाइड नोट फाड़ दिया, जिससे ग्रामीण इस कदर भड़क गए कि उन्होंने पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। ग्रामीणों की पिटाई से दो पुलिसकर्मियों के घायल होने की भी खबर सामने आयी है।

जानकारी के मुताबिक जब एसएसपी ने इस मामले की जांच कराई तो पुलिसकर्मी दोषी निकले, जिसके बाद पूरी पुलिस चौकी को सस्पेंड कर दिया है। माहौल को देखते हुए गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

घटनाक्रम के मुताबिक बरेली के आंवला थाने के रामनगर क्षेत्र के गांव मऊ चंद्रपुर गांव में एक व्यक्ति की बेटी कुछ दिन पहले अपने प्रेमी के साथ चली गयी थी। लड़की के पिता को जब इसकी जानकारी हुई वह अपने इलाके की रामनगर पुलिस चौकी पहुंचा और पुलिस से जवान बेटी को वापस ढूंढकर लाने की गुहार लगाई।

कथित रूप से यहां चौकी में मौजूद पुलिसकर्मियों ने बेटी को ढूंढकर लाने के एवज में एक मजबूर बाप से एक लाख रुपये की डिमांड कर डाली। जब पीड़ित ने इतने ज्यादा रुपये न होने की बात कही तो उसे कथित रूप से पुलिसकर्मियों ने वहां से खदेड़ दिया। इसके बाद भी पांच दिन तक पिता बेटी के लिए इधर-उधर भटक कर पुलिस से गुहार लगाता रहा, मगर किसी ने भी उसकी आवाज नहीं सुनी।

बेटी की तलाश में भटकते पिता ने तंग आकर सुसाइड नोट लिख पीड़ित ने आत्महत्या कर ली, जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार पुलिसकर्मियों को ठहराया था। पीड़ित पिता की आत्महत्या की खबर जब पुलिसकर्मियों को लगी तो वह मौके पर पहुंची।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पुलिसकर्मियों ने मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट को फाड़ दिया। इससे वहां मौजूद ग्रामीण भड़क गए और पुलिसकर्मियों को दौड़ा लिया। सुसाइड नोट फाड़े जाने से बौखलाए ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को जमकर पीटा भी, जिससे दो सिपाहियों के घायल होने की खबर है।

Next Story
Share it