Top
उत्तर प्रदेश

बहन की हत्या के बाद न्याय के लिए भटकता भाई, 2 महीने बाद भी नोएडा पुलिस नहीं कर सकी अरेस्ट

Janjwar Desk
5 Jan 2021 7:01 AM GMT
बहन की हत्या के बाद न्याय के लिए भटकता भाई, 2 महीने बाद भी नोएडा पुलिस नहीं कर सकी अरेस्ट
x
प्रियंका त्यागी ने खुद की मौत से पहले ससुराल वालों द्वारा खुद का उत्पीड़न किए जाने की बात लिखी है। प्रियंका के साथ उसके चार साल के मासूम बेटे की भी हत्या हो गयी...

जनज्वार ब्यूरो, नोएडा। जनपद गौतमबुद्धनगर के थाना बिसरख में एक पिता ने अपनी बेटी की हत्या किए जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इससे पहले मृतका प्रियंका त्यागी ने खुद एक सुसाइड नोट छोड़ा था। अपने लिखे सुसाइड नोट में प्रियंका ने अपनी सास, ससुर, ननद व देवर सहित पति पर मारने पीटने का आरोप लगाया था। जिसके बाद प्रियंका की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई और तो और उसके मासूम बेटे तक कि मौत हो गई। बावजूद इसके नोएडा पुलिस अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है।

जनज्वार से बात करते हुए मृतका के भाई राहुल का गला भर आता है। सिसकती हुई आवाज में राहुल त्यागी ने जनज्वार को बताया, 'हम थाने के चक्कर लगा-लगाकर खुद घनचक्कर हो गए हैं। पुलिस ने बहन के हत्यारों से ना जाने कैसी सेटिंग कर ली है, जो पकड़ना तो दूर उल्टा हमे ही धमकाकर भगा देते हैं'। मृतका का भाई कहता है मुकदमा लिखे जाने के दो महीने से भी जादा का समय बीत गया है। लेकिन अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

मृतका का पत्र।

संभल के थाना असतौली मूल निवासी मुनिराज के दो बच्चे प्रियंका व राहुल थे। मुनिराज ने बेटी प्रियंका की शादी 22 अप्रैल 2015 को गाजियाबाद के विजय नगर में रहने वाले निशांत त्यागी, पुत्र सुबोध त्यागी से की थी। आरोप है कि शादी के कुछ दिन बाद से ही प्रियंका से 10 लाख रुपये और स्कोर्पियो गाड़ी की डिमांड की जाने लगी। जिसकी एवज में उसे प्रताड़ित किया जाता था। एक बार मारपीट में उसका पैर तक टूट गया था। प्रियंका व निशांत का एक 4 वर्षीय पुत्र प्रियांश भी था।

प्रियंका ने मरने से पहले अपने लिखे पत्र में भी यह बात लिखी है कि उसे सास निर्देश, ससुर सुबोध, ननद रीना, पति निशांत व देवर वरुण दहेज के लिए मारते पीटते हैं। जिसके चलते उसकी टांग टूट गई थी। इसी दौरान प्रियंका अपने पिता के घर चली गई थी। मायके में ही पिता ने उसका इलाज भी कराया। लेकिन लालची ससुराल पक्ष ने वहां भी उसका पीछा नहीं छोड़ा। उसे लगातार मारने की धमकी दी जाती रही।

पिता का आरोप है कि उनकी बेटी ने सुसाइड नहीं किया है, बल्कि उसे छत से धक्का देकर मारा गया है। रोज रोज की मारपीट से प्रियंका का 4 वर्षीय मासूम प्रियांश भी सहमा हुआ रहता था। वह ससुराल पक्ष का कोई राज ना खोल दे, इसके चलते दरिंदों ने उसे भी नहीं बख्शा और मौत के घाट उतार दिया। ऐसा आरोप है।

जनज्वार को मिली एफआईआर की कॉपी में थाना बिसरख पुलिस ने ससुर सुबोध त्यागी, सास निर्देश त्यागी, ननद रीना त्यागी, पति निशांत त्यागी और देवर वरुण त्यागी पर पिता से मिली तहरीर के बाद 7 नवंबर 2020 को आईपीसी की धारा 302/498-A/304-B/323/506/3 व 4 की धाराओं में मुकदमा तो दर्ज कर लिया। लेकिन अभी तक पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

Next Story

विविध

Share it