Top
उत्तर प्रदेश

मुख्तार अंसारी के आलीशन होटल 'गजल' पर चला योगी सरकार का बुलडोजर, जानिए क्या है पूरा मामला

Janjwar Desk
1 Nov 2020 6:38 AM GMT
मुख्तार अंसारी के आलीशन होटल गजल पर चला योगी सरकार का बुलडोजर, जानिए क्या है पूरा मामला
x
योगी सरकार का अवैध निर्माण के खिलाफ अभियान जारी है। गाजीपुर में अब मुख्तार अंसारी के होटल में बने अवैध निर्माण पर जिला प्रशासन का बुलडोजर चला है।

गाजीपुर: माफिया डॉनऔर यूपी के मऊ सदर विधानसभा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के खिलाफ योगी सरकार की कार्रवाई जारी है। रविवार को एंटी-भूमाफिया ऑपरेशन के तहत गाजीपुर में बने अंसारी के आलीशान होटल गजल में बने अवैध निर्माण को जेसीबी से ढहा दिया। अंसारी का यह होटल उनकी पत्नी और बेटे के नाम है। जिला प्रशासन का आरोप है कि इस होटल का निर्माण गलत नक्शे के तहत किया गया था। इससे पहले भी योगी सरकार मुख्तार अंसारी के कई निर्माणों पर अपना बुलडोजर चला चुकी है।

लगातार जारी है कार्रवाई

बुलडोजर चलाने से पहले पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया और इसके बाद पांच जेसीबी मशीनों से इस आलीशान होटल के अवैध निर्माण कार्य को ध्वस्त किया गया। इससे पहले 8 अक्टूबर को एसडीएम ने ध्वस्तीकरण का नोटिस दिया था। इससे पहले भी योगी सरकार लगातार मुख्तार अंसारी के अवैध संपत्तियों और निर्माण कार्यों पर बुलडोजर चला चुकी है। इतना ही नहीं मुख्तार के करीबियों की सपंत्तियों पर भी सरकार लगातार नजर बनाए हुए हैं।

लखनऊ में भी ढहाया था अवैध निर्माण

कुछ समय पहले ही सरकार ने मुख्तार अंसारी के सहयोगी की करीब 60 लाख की संपत्ति को जब्त कर लिया था। मऊ में पुलिस नेअवैध रूप से बने दो मंजिला मकान को कुर्क कर लिया था। कुर्की से पहले पुलिस ने मकान में सील बंद ताला लगाया और फिर ढोल बजाकर स्थानीय लोगों को रही कार्रवाई के बारे में जानकारी दी गई थी। अगस्त माह के अंत में लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) ने डालीगंज इलाके में बने मुख्तार के अवैध कब्जे की इमारत को जमींदोज कर दिया था। इस दौरान मुख्तार के बेटे अब्बास औऱ उमर अंसारी से झड़प भी हुई।

पंजाब की जेल में बंद है मुख्तार

2005 में गाजीपुर के भांवरकोल इलाके में हुए सामूहिक हत्याकांड तत्कालीन भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की मौत हो गई थी। इस मामले में मऊ से बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी का नाम मुख्य आरोपी के तौर पर सामने आया था। हालांकि, उन्हें तथा सात अन्य आरोपियों को विशेष सीबीआई अदालत ने पिछले साल जुलाई में बरी कर दिया था। अनेक मुकदमों में आरोपी मुख्तार इस वक्त पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं।

Next Story

विविध

Share it