Top
उत्तर प्रदेश

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के एक और करीबी पर गिरी गाज, योगी सरकार ने जब्त की 60 लाख की संपत्ति

Janjwar Desk
5 Oct 2020 3:23 AM GMT
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के एक और करीबी पर गिरी गाज, योगी सरकार ने जब्त की 60 लाख की संपत्ति
x
योगी सरकार अब तक अपराधियों के खिलाफ चले अभियान के तहत करोड़ों की संपत्ति जब्त कर चुकी है, हिस्ट्रीशीटर राजन सिंह के अलावा उसके भाई उमेश सिंह की भी 6.5 करोड़ रुपए की सम्पत्ति की जा चुकी है जब्त....

जनज्वार। रॉबिनहुड बाहुबली विधायक के तौर पर प्रसिद्ध मुख्तार अंसारी की मुश्किलें योगीराज में लगातार बढ़ती जा रही हैं। पत्नी, बेटों और सालों पर कड़ी कार्रवाई, उन पर गैंगस्टर लगाने और करोड़ों की संपत्ति ढहाने के बाद उनके और कई करीबियों पर भी लगातार गाज गिर रही है।

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी कहे जाने वाले कोयला माफिया और आपराधिक गैंग आईआर 9 के सदस्य हिस्ट्रीशीटर राजेश उर्फ राजन सिंह की 60 लाख की सम्पत्ति योगीराज में जब्त की जा चुकी है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक घुले सुशील चंद्रभान कहते हैं कि गैंगस्टर एक्ट के तहत अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्ति को पुलिस ने जब्त किया है। गौरतलब है कि राजन सिंह की अब तक 95 लाख से अधिक की संपत्ति जब्त की जा चुकी है।

राजेश सिंह उर्फ राजन सिंह की संपत्ति जब्त करने के बाद पुलिस ने कहा कि आरोपी राजन सिंह त्रिदेव कंस्ट्रक्शन कंपनी, त्रिदेव कोल डिपो, त्रिदेव ग्रुप का संचालन भाई उमेश सिंह के साथ मिलकर करता रहा है। राजन सिंह पिछले दो दशकों से मुख्तार अंसारी के गिरोह की आर्थिक रूप से मदद कर रहा है। यही नहीं वह मुख्तार अंसारी गिरोह के शातिर सदस्यों और कई गैंगस्टरों को शरण भी दे चुका है। राजन सिंह वर्ष 2009 में हुये मन्ना सिंह हत्याकांड में गवाह राम सिंह मौर्य व उनकी सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी आरक्षी सतीश की हत्या में भी नामजद है।

गौरतलब है कि मन्ना सिंह हत्याकांड के सम्बंध में राजन सिंह को थाना दक्षिण टोला में मुकदमा पंजीकृत किया गया था, जिसमें वह मुख्तार अंसारी के साथ उसे सह अभियुक्त बनाया गया था।

संपत्ति जब्त करने वाली पुलिस टीम के अधीक्षक ने बताया कि वर्ष 2010 में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुख्तार अंसारी, राजन सिंह व अन्य अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इसी के बाद से उन लोगों की अवैध संपत्तियों को जब्त किया जाना था।

गैंगस्टर राजन सिंह की संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई कल 4 अक्टूबर को क्षेत्राधिकारी नगर नरेश कुमार, प्रभारी निरीक्षक सरायलखंसी, कोतवाली व दक्षिणटोला पुलिस की मौजूदगी में हुई। इस टीम ने राजन सिंह के ग्राम परदहां तहसील सदर में स्थित तीन मंजिला मकान को जब्त किया। कार्रवाई के दौरान पूरे दिन अफरा-तफरी का माहौल रहा और भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किया गया ताकि किसी अनहोनी से बचा जा सके।

गौरतलब है कि योगी सरकार अब तक अपराधियों के खिलाफ चले अभियान के तहत करोड़ों की संपत्ति जब्त कर चुकी है। हिस्ट्रीशीटर राजेश उर्फ राजन सिंह के अलावा उसके भाई उमेश सिंह की अब तक 6.5 करोड़ रुपए की सम्पत्ति को जब्त की जा चुकी है। इस मामले में एसपी का कहना है कि यह कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

Next Story

विविध

Share it