राष्ट्रीय

Uttarakhand news: तड़पती-बिलखती और पुकारती रही मां, पानी की उफनती लहरों में समा गया बच्चा

Janjwar Desk
19 Sep 2021 5:39 PM GMT
Uttarakhand news: तड़पती-बिलखती और पुकारती रही मां, पानी की उफनती लहरों में समा गया बच्चा
x

(नैनीताल के रामनगर से एक दुःखद घटना सामने आई है जिसमें मां की आंखों के सामने बच्चा उफनती लहरों में समा गया)

Uttarakhand news : माँ के सामने ही उसका लाडला नदी के पानी के तेज बहाव में बह निकला, ज़िन्दगी के साथ संडे की छुट्टी मनाने आया यह परिवार वापसी में मौत ले जाने को मजबूर हो गया..

सलीम मलिक की रिपोर्ट

Uttarakhand news : (रामनगर)। पर्यटकों को रिझाने वाले उत्तराखण्ड (Uttarakhand) के खूबसूरत पहाड़ और कल-कल करती नदियों का शोर इन दिनों राज्य में आने वाले सैलानियों के लिए किसी कहर से कम साबित नहीं हो रहा है। कहीं प्राकृतिक हादसे (natural incidents) तो कहीं लापरवाही की वजह से उत्तराखण्ड की रौनक लोगों की ज़िंदगी में कभी न भूलने वाले दुःख की वजह बन रही है। रविवार को भी ऐसे ही एक हादसा हुआ जिसमें एक माँ के सामने ही (In front of his mother) उसका लाडला नदी के पानी के तेज बहाव में बह निकला। ज़िन्दगी के साथ संडे की छुट्टी मनाने आया यह परिवार वापसी में मौत ले जाने को मजबूर हो गया।

जिला मुरादाबाद (Muradabad) के वुड बाजार मानपुर निवासी मो. अली (10 वर्ष) पुत्र शरफदीन अपनी मां नगमा, चाचा तारिक, चाची, फूफा व बुआ समेत 12 लोगों के साथ नैनीताल (Nainital) जिले के रामनगर में घूमने आया था। परिवार के लोगों में आठ बड़े व चार छोटे बच्चे थे। रामनगर से सभी लोग ढिकुली की ओर कोसी नदी (Kosi river) स्थित झूला पुल पर चले गए। जहां बल खाती इठलाती कोसी नदी का सौन्दर्य देखकर सभी लोग कोसी नदी में नहाने के लिए उतर गए।

लेकिन बरसात का सीजन (Rainy season) होने के कारण यह लोग पानी के बहाव की तीव्रता का अंदाज़ा न लगा सके। जिसके चलते नहाने के दौरान नदी के तेज बहाव में अली उसकी मां नगमा, नेहा व कशिश बहने लगे। इन लोगों के चिल्लाने पर आसपास के लोगों ने तीनों लोगों को तो बहने से बचा लिया।

लेकिन अली लोगों के देखते ही देखते पानी के तेज बहाव में बह निकला। बाद में घटनास्थल पर पुलिस व अग्रिशमन विभाग (Firebigrade department) की टीम मौके पहुंची तो नदी में सर्च अभियान चलाया गया। एक घंटे बाद बच्चे की लाश ढिकुली में एक होटल के पास से नदी से बरामद की गई।

घटना की बाबत जानकारी मिली है कि अली व फरजीन दोनो बेटों के नदी में उतरने की जिद पर मां ने उन्हें नदी में जाने की अनुमति देते हुए उन्हें किनारे पर ही रहने की हिदायत दी थी। लेकिन नदी में पहुंचने के बाद दोनों बेटों के बुलाने पर बच्चों के साथ मां भी नदी किनारे चली गई थी।

इस बीच पानी के वेग से अंजान मां, दो बेटे एक अन्य बच्ची बहने लगी। किसी तरह मां, एक बेटे व बच्ची को तो लोगों ने बचा लिया। मां बच्चे को बचाने के लिए लोगों से गुहार लगाती रही। तब तक बच्चा तेज बहाव में आंखों से ओझल हो चुका था। इस हादसे के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Next Story

विविध

Share it