राष्ट्रीय

Uttarpradesh News: योगी सरकार में गुंडाराज! कहीं सांसद की पिटाई तो कहीं मंत्रीपुत्र का बीडीओ पर हमला

Janjwar Desk
25 Sep 2021 6:43 PM GMT
Uttarpradesh News: योगी सरकार में गुंडाराज! कहीं सांसद की पिटाई तो कहीं मंत्रीपुत्र का बीडीओ पर हमला
x

यूपी के देवरिया में मंत्रीपुत्र व समर्थकों ने बीडीओ पर हमला कर दिया (Photo: social media)


Uttarpradesh News: योगी सरकार के कानून के राज के दावों की शनिवार को जमकर फजीहत हो गई, प्रतापगढ़ में बीजेपी सांसद संगमलाल गुप्ता को दौड़ाकर पीटा तो देवरिया में योगी सरकार के मंत्रीपुत्र व समर्थकों ने बीडीओ पर जानलेवा हमला किया..

Uttarpradesh News: (जनज्वार)। यूपी में योगी सरकार (Yogi Government) के कानून के राज के दावों की शनिवार को जमकर फजीहत हो गई। प्रदेश में कहीं सांसद की पिटाई कर दी गई तो कहीं मंत्रीपुत्र (son of minister) ने बीडीओ पर जानलेवा हमला कर दिया। बता दें कि शनिवार को प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में कुछ लोगों ने बीजेपी सांसद संगमलाल गुप्ता को दौड़ाकर पीटा तो देवरिया में योगी सरकार के एक मंत्री के बेटे सहित दो दर्जन लोगों ने बीडीओ पर जानलेवा हमला किया।

देवरिया (Deoria) की घटना का कथित वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। बताया जा रहा है कि घटना को लेकर सरकार की किरकिरी होते देख देर शाम मुख्यमंत्री के आदेश पर मंत्री के बेटे समेत दो दर्जन लोगों पर पुलिस ने डकैती समेत संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

गरीब कल्याण दिवस पर समारोहों का राज्य भर में आयोजन किया गया था। इसके तहत ब्लाकों (Blocks) पर शिविर आयोजित किए गए थे। बताया जा रहा है कि इस दौरान प्रतापगढ़ (Pratapgarh) के सांगीपुर ब्लॉक पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान भारतीय जनता पार्टी के सांसद संगमलाल गुप्ता के कार्यकर्ताओं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट हुई है।

इस दौरान आरोप है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। सांसद संगमलाल गुप्ता की कई गाड़ियों को पथराव और लाठी-डंडे से क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान सांसद भी हमले का शिकार हुए। बताया जा रहा है कि कैंपस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी भी इस दौरान मौजूद थे। इस मामले में दोनों पक्षों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की है।

उधर देवरिया जिले के गौरीबाजार विकास खंड परिसर में भी जमकर बवाल मचाया। यहां बवाल काटा प्रदेश के राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद के पुत्र एवं गौरीबाजार ब्लाक प्रमुख अनीता निषाद के पति विश्व विजय निषाद ने। आरोप है कि उन्होंने प्रभारी खंड विकास अधिकारी संजय पाण्डेय, जो परियोजना निदेशक, ग्राम्य विकास अभिकरण भी हैं, उनकी पिटाई कर दी।

आरोप के मुताबिक, मंत्री पुत्र एवं उनके समर्थकों द्वारा प्रभारी बीडीओ को तो पीटा ही गया, बीच बचाव कर रहे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी ब्लाक प्रमुख व उनके समर्थकों ने मार- पीट कर घायल कर दिया। वहीं मेले के उपलक्ष्य में मंच पर लगाई गईं कुर्सियां भी तोडफोड़ कर बर्बाद कर दिया। बताया जा रहा है कि मारपीट में कई अधिकारियों एवं कर्मचारियों को चोटें आईं हैं। इस घटना का कथित वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

उधर, सूचना पर जिले के वरीय अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। वहीं, डीएम आशुतोष निरंजन ने घटना को गंभीरता से लिया। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को मामले की जांच सौंप दी है। जानकारी के अनुसार, गौरीबाजार विकास खंड कार्यालय परिसर में गरीब कल्याण दिवस पर मेला आयोजित किया गया था। मेला में जो बैनर लगाए गए थे उन पर सदर विधायक डॉ. सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी की फोटो थी, जबकि स्थानीय ब्लाक प्रमुख अनीता निषाद की फोटो नहीं लगाई गई थी। इसी को लेकर मामला तूल पकड़ गया।

बताया जाता है कि इसी दौरान प्रदेश के राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद के पुत्र विश्व विजय निषाद अपने समर्थकों सहित विकास खंड कार्यालय पहुंचे। वहां ब्लाक प्रमुख व उनकी पत्नी अनीता निषाद की फोटो नहीं लगा देख भड़क गए और प्रभारी खंड विकास अधिकारी एवं डीआरडीए के पीडी संजय पांडेय से पूछा तो दोनों के बीच कहासुनी शुरू हो गई।

आरोप है कि ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि विश्व विजय निषाद ने उनकी पिटाई कर दी। बीच बचाव करने पर उनके समर्थकों ने अधिकारियों, कर्मचारियों को दौड़ा - दौड़ा कर पीटा। बताया जा रहा है कि घटना में कई लोगों को चोटें आईं हैं। खंड विकास अधिकारी संजय पांडेय ने ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि पर जानलेवा हमला, डकैती , सरकारी कामकाज में बाधा समेत संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी। जिस पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर लिया है।

उधर, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि विश्व विजय निषाद का कहना है कि मौके पर वह नहीं थे, खंड विकास अधिकारी द्वारा समर्थकों की पिटाई की जानकारी होने पर पहुंचे। मेले में मारपीट की सूचना पर मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, सीओ रूद्रपुर मय फोर्स मौके पर पहुंच गए।

वहीं, डीएम डा. आशुतोष निरंजन ने बताया कि पूरे मामले की जांच मुख्य विकास अधिकारी को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।

Next Story

विविध

Share it