Top
राष्ट्रीय

पश्चिम बंगाल : नारेबाजी को लेकर भाजपा के 3 नेता गिरफ्तार, चुनावी तैयारियों का जायजा लेने पहुंची EC की टीम

Janjwar Desk
21 Jan 2021 7:21 AM GMT
पश्चिम बंगाल : नारेबाजी को लेकर भाजपा के 3 नेता गिरफ्तार, चुनावी तैयारियों का जायजा लेने पहुंची EC की टीम
x

बुधवार को चंदननगर में निकाले गए भाजपा के जुलूस का दृश्य, जिसमें की गयी नारेबारी को लेकर गिरफ्तारी हुई है।

तृणमूल कांग्रेस के द्वारा ऐसी ही रैली निकाले जाने के अगले दिन भाजपा ने भी रैली निकाली और देश के गद्दारों को गोली मारो सालों को नारे लगाए, जिसको लेकर भाजपा के तीन नेताओं को गिरफ्तार किया गया है...

जनज्वार। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य में भाजपा व तृणमूल कांग्रेस के बीच राजनीति लगातार गर्म हो रही है। इस क्रम में दोनों दल एक दूसरे के खिलाफ तीखे अंदाज में नारेबाजी भी कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल पुलिस ने भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष सुरेश साव व दो अन्य भाजपा नेताओं को बंगाल पुलिस ने विवादित नारेबाजी को लेकर गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस इन्हें अदालत में पेश करेगी।

बुधवार को हुगली जिले के चंदननगर में भाजपा ने एक विरोध प्रदर्शन निकाला था, जिसमें भाजपा के कार्यकर्ता देश के गद्दारों को, गोली मारो सालों को नारेबाजी कर रहे थे। इसी मामले को लेकर सुरेश साव व दो अन्य की गिरफ्तारी हुई है। इनके नारेबाजी का वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर आया था।

हालांकि इसके एक दिन पहले तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा निकाली गयी रैली में भी इस तरह की नारेबाजी की गयी थी। उस जुलूस में भी तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता देश के गद्दारों को गोली मारो सालों को नारेबाजी करते दिखे थे। उसका वीडियो भाजपा के प्रदेश प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय से ट्वीट किया था और लिखा था कि यह चरित्र है टीएमसी का, क्या पश्चिम बंगाल में शांति हो सकती है?

बंगाल के दौरे पर चुनाव आयोग की टीम

गुरुवार को चुनाव आयोग की एक टीम पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंची है और वहां के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। बैठक में तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि के रूप में शामिल हुए राज्य सरकार में मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा कि भाजपा सीमाई इलाकों में बीएसएफ भेज रही है जो वहां के स्थानीय लोगों को भाजपा के पक्ष में वोट देने के लिए धमका रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा यह आरोप लगा रही है कि वोटर लिस्ट में रोहिंग्या व बांग्लादेशी का नाम शामिल है और यह सीधा चुनाव आयोग पर हमला है क्योंकि लिस्ट वहीं तैयार करता है। उन्होंने चुनाव आयोग से मतदाता सूची को क्रास चेक करने का आग्रह किया। उन्होंने भाजपा पर बंगाल में सांप्रदायिक भाषणों के जरिए नफरत की भावना फैलाने का आरोप लगाया और चुनाव आयोग से इस पर नोटिस लेने का आग्रह किया।

वहीं, बैठक में शामिल हुए बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि यह चुनाव आयोग की ड्यूटी है कि वह भयहीन माहौल में चुनाव करवाये। उन्होंने कहा कि यहां जल्द केंद्रीय बलों की तैनाती आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हम इस बात को लेकर पक्के हैं कि सीमाई इलाकों में रोहिंग्या का नाम वोटर लिस्ट में शामिल किया गया है और चुनाव आयोग को इस मामले को देखना चाहिए। दिलीप घोष ने कहा कि चुनाव आयोग की टीम राज्य की चुनाव तैयारियों का जायजा लेने आयी है। विपक्ष के रूप में हमने उन्हें ऐसा माहौल सुनिश्चित करने को कहा जिसमें लोग तटस्थ होकर शांतिपूर्ण माहौल में मतदान कर सकें।

Next Story

विविध

Share it