राष्ट्रीय

राबिया हत्याकांड की CBI जांच की मांग को लेकर पटना में महिला संगठनों ने निकाला आक्रोश मार्च

Janjwar Desk
11 Sep 2021 4:14 PM GMT
राबिया हत्याकांड की CBI जांच की मांग को लेकर पटना में महिला संगठनों ने निकाला आक्रोश मार्च
x

(पुलिस ने राबिया का शव फरिदाबाद के सूरजकुंड के जंगल से बरामद किया था)

21 वर्षीय राबिया सैफी दिल्ली की रहने वाली थी और दिल्ली पुलिस डिफेंस में महिला कांस्टेबल के पद पर काम करती थी, 27 अगस्त को हरियाणा के फरीदाबाद में राबिया का शव बरामद किया गया....

पटना। दिल्ली में 21 वर्ष की महिला कांस्टेबल राबिया सैफी (Rabiya Saifi) के बलात्कार के बाद निर्मम हत्या के विरोध में पटना के महिला संगठनों ने बुद्धा स्मृति पार्क से आक्रोश मार्च (Outrage March) निकाला। मार्च के दौरान महिला संगठनों द्वारा राबिया मामले में सीबीआई (CBI) जांच और स्पीडी ट्रायल की मांग की गई। इसके अलावा, महिला संगठनों ने मृत राबिया सैफी के परिवार को न्याय समेत 10 लाख मुआवजा और नौकरी की भी मांग की। आक्रोश मार्च का नेतृत्व अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (एपवा) और पटना के अन्य महिला संगठनों ने किया, जिसका समर्थन करने पटना की महिलाएं और लड़कियां भी सड़क पर उतरीं।

कौन है महिला कांस्टेबल राबिया सैफी

21 वर्षीय राबिया सैफी दिल्ली की रहने वाली थी और दिल्ली पुलिस डिफेंस में महिला कांस्टेबल के पद पर काम करती थी। 27 अगस्त को हरियाणा के फरीदाबाद में राबिया का शव बरामद किया गया। राबिया के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया, फिर चाकूओं से उसके शरीर पर कई वार किए गए और गला रेत कर हत्या कर दी गई। महिला कंस्टेबल के दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या के बाद पूरे दाश में लोगो के बीच आक्रोश है। लोगों का कहना है कि जब पुलिस में तैनात महिलाएं ही सुरक्षित नही है, तो आम महिलाओं के सुरक्षा की कल्पना कैसे करें।

मामले में निजामुद्दीन नामक युवक ने किया आत्मसमर्पण

आपको बता दें कि राबिया के हत्या मामले में 27 अगस्त को निजामुद्दीन नाम के एक युवक ने कालिंदी कुंज पुलिस स्टेशन आकर आत्मसमर्पन किया और राबिया के हत्या की जिम्मेदारी ली। निजामुद्दीन के अनुसार वो राबिया को पति है। राबिया के अन्य पुरूषों के साथ अवैध संबंध थे जिससे आक्रोशित होकर उसने राबिया की हत्या कर दी। निजामुद्दीन के कहे अनुसार पुलिस ने राबिया का शव फरिदाबाद के सूरजकुंड के जंगल से बरामद किया। हालांकि, राबिया के परिवार वालों का दावा है कि राबिया की शादी नहीं हुई थी और उन्हें निजामुद्दीन के बारे में भी कोई जानकारी नहीं थी।

पूरे देश में राबिया के लिए इंसाफ की मांग की जा रही

राबिया सैफी के साथ बलात्कार और फिर निर्मम हत्या के बाद पूरे देश में आक्रोश है। जगह-जगह कैंडल मार्च करके राबिया के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है। पहले निर्भया और अब राबिया के साथ हुए बर्बरता के कारण राजधानी दिल्ली में महिलाओं के सुरक्षा व्यवस्था पर चिंता जाहिर की जा रही है। लोगों का मानना है कि अगर निजामुद्दी राबिया का पति था, बावजूद इसकेउसे अपनी पत्नी की इस तरह हत्या करने की ईजाजत किसने दी। देश भर मेंलोगों द्वारा राबिया के बलात्कारों और हत्यारों को फांसी देने की मांग की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it