Top
राष्ट्रीय

मोदी के जन्मदिन को आज जुमला और बेरोजगारी दिवस के रूप पर मनाएंगे देशभर के युवा

Janjwar Desk
16 Sep 2020 3:23 PM GMT
मोदी के जन्मदिन को आज जुमला और बेरोजगारी दिवस के रूप पर मनाएंगे देशभर के युवा
x
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बेरोजगारी और बड़े वादों को जुमला बताए जाने का विरोध जताने के लिए देश भर के लाखों युवा उनके जन्मदिवस के बेरोजगारी दिवस एवं राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाने को तैयार हैं। ट्राइबल आर्मी, युवा हल्ला बोल सहित कई संगठनों ने इसके लिए कमर कस ली है...

जनज्वार। 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। गुरुवार को उनके जन्मदिन को देश के युवाओं का एक बड़ा वर्ग जुमला दिवस व बेरोजगारी दिवस के रूप में मनाने को तैयार है। ट्राइबल आर्मी, युवा हल्ला बोल सहित अन्य संगठनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन 17 सितंबर को युवा बेरोजगारी दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया है।

ट्राइबल आर्मी के प्रमुख व संस्थापक हंसराज मीणा ने ट्वीट कर कहा है कि 17 सितंबर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस संपूर्ण देश में मनाने को लेकर किसी पार्टी या नेता ने तय नहीं किया है, बल्कि यह मेरे द्वारा तय किया हुआ है। उन्होंने सभी विपक्षी दलों, सामाजिक संगठनों व देश के अन्य जागरूक लोगों से इस मुद्दे साथ आने की अपील की है।




हंसराज मीणा व उनके हजारों समर्थक #राष्ट्रीय_बेरोजगार_दिवस और #Remember17Sept हैशटैग पर ट्वीट कर लोगों से देश में बढती बेरोजगारी के खिलाफ विरोध जताने की अपील कर रहे हैं। #Remember17Sept हैशटैग पर ट्वीट कर मोदी सरकार के खराब आंकड़ों या रिकार्ड को याद रखने की बात कही जा रही है। हंसराज मीणा ने ट्वीट कर कहा है कि सरकारी संस्थाओं में बढते निजीकरण और उनसे उपजी बेरोजगारी का दर्द सब याद रखा जाएगा। भूलना मना है।


इससे पहले युवा हल्ला बोल नामक संगठन ने भी 17 सितंबर को राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस के रूप में मनाने की अपील कर चुका है। युवा हल्ला बोल संगठन का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने से पहले देश के करोड़ों युवाओं को रोजगार का सपना दिखाया था।

युवा हल्ला बोल के संयोजक गोविंद मिश्रा का कहना है कि अब युवा मान चुके हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी के ज्यादातर वादे जुमले से अधिक कुछ नहीं थे। ऐसे में उनके जन्मदिवस को जुमला दिवस के रूप में मनाकर युवा जाॅब चाहिए, जुमला नहीं का नारा लगाएंगे।

युवा हल्ला बोल संगठन का यह भी कहना है कि मोदी ने सत्ता में आने के बाद बेरोजगारी के सारे रिकार्ड तोड़ दिए। स्किल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया, स्मार्ट सिटी जैसी कई योजनाएं रोजगार देने के नाम पर घोषित की गईं, लेकिन ये सब सिर्फ घोषणा ही रह गईं। संगठन का कहना है कि हर नागरिक के खाते में 15 लाख देने की बात को खुद भाजपा ने जुमला स्वीकार कर लिया था। संगठन का कहना है कि देश का युवा प्रधानमंत्री के जुमलों से त्रस्त हो गया है।

उधर, भारतीय जनता पार्टी ने मोदी के जन्मदिन के मौके पर सेवा सप्ताह का आयोजन किया गया है। भाजपा 14 सितंबर से 20 सितंबर तक देशव्यापी सेवा सप्ताह मना रही है। इस दौरान पार्टी की ओर से विभिन्न प्रकार के आयोजन किए जा रहे हैं। 17 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को भाजपा व्यापक रूप से मनाती है।

Next Story

विविध

Share it