समाज

कोरोना के डर से कानपुर में 28 साल के युवक ने किया आत्मदाह

Prema Negi
24 March 2020 10:42 AM GMT
कोरोना के डर से कानपुर में 28 साल के युवक ने किया आत्मदाह
x

कानपुर पुलिस ने लॉकडाउन तोड़ने वालों को कराया मुर्गासन, और एक 70 साल के बुजुर्ग का भी आया है टेस्ट कोरोना पॉजिटिव

जनज्वार, कानपुर। कानपुर के नवाबगंज निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। अमेरिका में बेटी से मिलकर ये बुजुर्ग वापस लौटे थे, वहीं कोरोना के डर से भयभीत एक युवक द्वारा आत्मदाह की खबर सामने आ रही है। इन दोनों घटनाओं के बाद प्रशासन बहुत सख्त हुआ है। चकेरी थाने के जाजमऊ में लॉकडाउन तोड़ने वालों को पुलिस ने मुर्गा बनाया है।

कोरोना वायरस के चलते सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन को तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने अब सख्त रवैया अपनाना शुरू कर दिया है, जिसके तहत आज कानपुर में पुलिस प्रशासन ने ऐसे लोगों पर निगाहें टेढ़ी कर दी। कहीं पर लोगों को मुर्गा बनाया गया तो कही चटख धूप में हाथ खड़े करके सजा दी गई। कहीं पर थाने लाकर उनको बंद किया गया तो कहीं पुलिस ने चालान किया।

कुल मिलाकर सरकार के आदेश को न मानने वालों के खिलाफ अब पुलिस ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिये हैं। जाजमऊ चौराहे पर पुलिस अधिकारियों ने नियमों का उल्लंघन करने पर युवकों को लाइन से खड़ा करके मुर्गा बना दिया। इस दौरान उनसे नियम न तोड़ने की शपथ दिलाई गई। यह जिसने भी देखा वह हैरान रह गया। कानपुर के दूसरे इलाको में भी युवकों को हाथ खड़े करके नियम न तोड़ने की शपथ दिलाई गई। इस दौरान लोगों के वाहनों के चालान भी किए गए। पुलिस ने सख्ती से पेश आते हुए बड़ी संख्या में लोगों पर कार्रवाई भी की है। इससे एक बात तो साफ है कि कोरोना वायरस के चलते जारी लॉकडाउन में अब पुलिस कोई भी ढिलाई बरतने वाली नहीं है।

लॉकडाउन तोड़ने वालों को यूपी पुलिस ने ऐसे कराया मुर्गासन

गौरतलब है कि कानपुर में कोरोना वायरस के संक्रमण का पहला पॉजिटिव मामला सामने आने के बाद प्रशासन व सरकार और भी अधिक सख्ती बरत रही है। बीती 18 मार्च को नवाबगंज निवासी 70 वर्षीय अमेरिका से लौटे बुजुर्ग को जांच में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, जिसके बाद प्रशासन और सख्त हुआ है। अमेरिका से लौटे बुजुर्ग वहां अपनी रह रही बेटी से मिलने गए थे, जहां से कोरोना वायरस लेकर शहर वापस आये हैं।

सके अलावा कानपुर के सचेंडी थाने के बिनौर गांव के निवासी रमेश तिवारी के 28 वर्षीय पुत्र ऋषभ तिवारी ने कोरोना वायरस से भयभीत होकर आत्मदाह कर लिया। बताया जा रहा है कि ऋषभ को पिछले कई दिनों से सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार की शिकायत थी। टीवी पर न्यूज़ देखने के दौरान उसे कोरोना के संक्रमण और लक्षणों का पता चला तो वह खुद को लेकर भयभीत हो गया और आत्मदाह कर लिया। इन सभी घटनाओं को संज्ञान में लेते हुए प्रशासन ने सड़क पर उतरकर लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती दिखानी शुरू कर दी है।

कानपुर में प्रशासन द्वारा दैनिक वस्तुओं की खरीददारी का समय सुबह 6 से 11 बजे तक तय कर दिया है। इसके बाद किसी को भी निकलने की आजादी नहीं है। पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को आज सड़क पर उतरकर सबक सिखाया मुर्गा बनाकर फिर गलती न करने की शपथ दिलाई गई।

सके अलावा कानपुर पुलिस ने अब तक 80 से अधिक लोगों के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन में मुकदमा दर्ज किया है तथा 400 लोगों की शिनाख्त की गई है। संक्रमण के खतरे को देखते हुए मुख्यमंत्री ने पूरे उत्तर प्रदेश को आगामी 27 मार्च तक लॉकडाउन करने के आदेश जारी कर दिए हैं, साथ ही सूबे की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है।

Next Story

विविध

Share it