file photo

उपचार से ज्यादा कोरोना भय का रोग बनता जा रहा है, यही कारण है कि राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में कोरोना के एक संदिग्ध मरीज ने सातवीं मंजिल से कूदकर जान दे दी है….

जनज्वार। कोरोना वायरस को पूरे विश्वभर में महामारी घोषित कर दिया गया है, और भारत भी इससे अछूता नहीं है। उपचार से ज्यादा कोरोना भय का रोग बनता जा रहा है। यही कारण है कि राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में कोरोना के एक संदिग्ध मरीज ने सातवीं मंजिल से कूदकर जान दे दी है।

कोरोना जिसका वैज्ञानिक नाम COVID19 है, के एक संदिग्ध ने आज 18 मार्च को अभी अभी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल की सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली है। यह जानकारी दक्षिण पश्चिम दिल्ली पुलिस उपायुक्त देवेंद्र आर्य ने मीडिया से साझा की।

जानकारी के मुताबिक COVID19 के संदिग्ध मरीज ने सफदरजंग अस्पताल की सातवीं मंजिस से कूदकर आत्महत्या कर ली है। मृतक की पहचान तनवीर सिंह के रूप में हुई है। तनवीर सिंह को सिडनी, ऑस्ट्रेलिया से लौटने के बाद आज रात 9 बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

गौरतलब है कि कोरोना से अब तक दुनियाभर में 8 हजार से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अब इसने भारत में भी दस्तक दे दी है और यहां भी कोरोना के कई संदिग्ध मरीज सामने आ चुके हैं। हमारे देश में कोरोना से 3 लोगों की मौत की भी पुष्टि हो चुकी है। मगर कोरोना में सावधानी से ज्यादा लोगों में भय का रोग समाता जा रहा है।

संबंधित खबर — अंधविश्वास : गौमूत्र पीकर बीमार हुआ भक्त, गौमूत्र पार्टी रखने वाला BJP कार्यकर्ता गिरफ्तार

Edited By :- Janjwar Team

जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism