Top
राजनीति

राष्ट्रीय परिषद की बैठक में सब बोले, चुप रहे तो सिर्फ विश्वास

Janjwar Team
2 Nov 2017 6:29 PM GMT
राष्ट्रीय परिषद की बैठक में सब बोले, चुप रहे तो सिर्फ विश्वास
x

जैसा जनज्वार ने बताया था वैसा ही हुआ, कुमार का कद हुआ पार्टी में छोटा पहली बार राष्ट्रीय परिषद की बैठक में नहीं बोलने दिया

अरविंद बोले, मनीष बोले, आशु बोले संजय सिंह बोले, गोपाल राय बोले, नहीं बोलने दिया तो कुमार को

जिसने भी कुमार के पक्ष में आवाज़ उठाई उसे परिषद की बैठक में चुप करा दिया, महंगाई, नोटबंदी, बेरोजगारी रहा मुद्दा

दिल्ली से स्वतंत्र कुमार की रिपोर्ट

अभी थोड़ी देर पहले आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक खत्म हो गई है। बैठक से पहले जैसा हमने कहा था वैसा ही हुआ। 6वीं परिषद की बैठक में पहली बार ऐसा हुआ कि कुमार को बोलने का अवसर नहीं दिया गया।

हालांकि बैठक के दौरान एक खबर भी प्लांट करवाई गई कि कुमार का नाम वक्ताओं की लिस्ट में जोड़ लिया गया है। लेकिन बैठक के अंत तक कुमार विश्वास को अपनी बात रखने का अवसर नहीं मिला। हमने पहले स्पष्ट कर दिया था कि इस परिषद की बैठक के बाद कुमार विश्वास का कद छोटा हो जाएगा। वैसा हुआ भी।

कुछ राष्ट्रीय परिषद के सदस्य कुमार के पक्ष में बोलने के लिये खड़े हुए, लेकिन बैठक में उपस्तिथ नेताओं ने उन्हें बैठा दिया। राष्ट्रीय परिषद के एक सदस्य ने बताया कि जब कुछ परिषद के सदस्यों ने कुमार का नाम वक्ताओं से हटाने पर विरोध किया तो एक बार पूरे हॉल में बैठे सभी परिषद के सदस्यों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। मौके की नजाकत को समझते हुए दिल्ली के कनविनर गोपाल राय ने माफी मांगी कि कुमार विश्वास का नाम वक्ताओं में शामिल नहीं कर सके, आगे से ध्यान रखा जाएगा।

शुरुआत में दिल्ली के गवर्नेंस मॉडल पर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने विचार रखे। इसके बाद आशुतोष, गोपाल राय, संजय सिंह ने भी अपनी अपनी बात रखी।
बीच—बीच में यदि कोई राष्ट्रीय परिषद के मेंबर पार्टी में चल रही उठापटक की बात करने की कोशिश करता तो उसे ये कहकर चुप करा दिया जाता कि सिर्फ नोटबंदी, बेरोजगारी और जीएसटी पर बात रखे।

कुमार ने मीटिंग सम्पन होने के बाद माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्वीटर पर अपना दर्द बयां करते हुए लिखा, "खुशियों के बेदर्द लुटेरो/ गम बोले तो क्या होगा/ खामोशी से डरने वालो/ 'हम'बोले तो क्या होगा??

इस शायरी में कुमार ने अपना दर्द बयां कर दिया। हमने अपनी रिपोर्ट में पहले बताया था कि कुमार को पार्टी से बाहर का रास्ता नहीं दिखाया जाएगा, हुआ भी वैसा ही। जल्द आपके सामने पार्टी से जुड़े किस्से सामने पेश करेंगे।

संबंधित खबर : डर सिर्फ इतना विश्वास गए राज्यसभा तो बन जाएंगे केजरीवाल से बड़े नेता

Next Story

विविध

Share it