Top
समाज

आपसी रंजिश में कर दी पड़ोसी के 3 साल की बच्ची की नृशंस हत्या

Prema Negi
16 Jun 2019 5:19 AM GMT
आपसी रंजिश में कर दी पड़ोसी के 3 साल की बच्ची की नृशंस हत्या
x

हत्यारे पड़ोसी ने टॉफी देने के बहाने मासूम बच्ची को अपने घर के अंदर बुलाया और मुंह पर हाथ रख कर दबा दी गर्दन, दम घुटने से जब बच्ची की हो गई मौत तो सबूतों को मिटाने के उद्देश्य से बोरे में बच्ची की लाश को भरकर देर रात घर से करीब 100 मीटर दूर फेंक दिया खेतों में...

बलरामपुर से फरीद आरजू की रिपोर्ट

जनज्वार। समाज किस तरह हिंसक और अमानवीय होता जा रहा है, इसकी पुष्टि आये दिन होने वाली घटनाओं से होती है, जिनके बारे में सोचकर ही रूह कांप जाती है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में सामने आया है, जहां मामूली कहासुनी में एक तीन साल की बच्ची की हत्या कर दी गई।

जानकारी के मुताबिक आपसी लड़ाई में बलरामपुर में पड़ोसी की तीन साल की बच्ची की ​हत्या कर दी गई और जुर्म छुपाने के लिए बच्ची का शव बोरे में भरकर खेत में फेंक दिया।

घटनाक्रम के मुताबिक बलरामपुर जनपद के गौरा क्षेत्र के सदवापुर गांव में शनिवार 15 जून को फेरई की तीन साल की बच्ची राधा का शव खेत से बरामद हुआ। फेरई की बच्ची राधा 14 जून को खेल के दौरान गायब हो गई थी।

जिस पिता का आंगन तीन साल की मासूम बच्ची राधा की किलकारियों से गूंजता था, वह अब खामोश हो गयी है। मासूम सी दिखने वाली बच्ची राधा के साथ पड़ोसी लखराजी ने जो नृशंस खेल खेला, वह समाज को शर्मसार कर देने वाला है। पडोसी से रंजिश का खामियाजा इस मासूम बच्ची को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा।

सदवापुर गाँव के फेरई की तीन साल की बच्ची फेरई शुक्रवार 14 जून को जब खेलने के दौरान गायब हो गयी तो परिजनों ने उसे बहुत तलाशा, मगर वह कहीं नहीं मिली। शनिवार की सुबह बच्ची की बोरे में बंधी लाश गांव के पास खेत से बरामद हुई तो परिवार के साथ गाँव का हर कोई इंसान सन्न रह गया।

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची का शव बरामद होने के बाद संदेह के आधार पर मृतक राधा के पडोसी लखराजी और उसके पिता को हिरासत में लेकर उनसे गहन पूछताछ की। कड़ाई से पूछताछ के दौरान लखराजी ने पुलिस के सामने वह सब स्वीकार कर लिया, जो उसने सभ्य समाज के बीच रहने और जीने के बावजूद दरिंदगी जैसी घटना को अपने हाथों से अंजाम दिया था।

हत्यारोपी लखराजी ने स्वीकार किया कि फेरई के परिवार से उसकी पुरानी रंजिश थी, जिसके चलते दोनों परिवारों में अक्सर विवाद भी होता था। इसी रंजिश से नाराज होकर उसने इस घटना को अंजाम दिया है।

आरोपी लखराजी ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार 14 जून की शाम उसने टॉफी देने के बहाने मासूम बच्ची राधा को अपने घर के अंदर बुलाया और मुंह पर हाथ रख कर उसकी गर्दन को दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गयी। आरोपी ने पुलिस के सामने यह भी स्वीकारा कि घटना को अंजाम देने के बाद सबूतों को मिटाने के उद्देश्य से उसने एक बोरे में लाश को भरकर देर रात घर से करीब 100 मीटर दूर खेत में फेंक दिया, ताकि उसके द्वारा अंजाम दिये गये इस जघन्य कांड के बारे में किसी को खबर न हो।

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि मृतक बच्ची के पिता फेरई की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लखराजी और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Next Story

विविध

Share it