Top
राजनीति

अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा 'नई सरकार में मुझे नहीं चाहिए मंत्री पद'

Prema Negi
29 May 2019 8:30 AM GMT
अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा नई सरकार में मुझे नहीं चाहिए मंत्री पद
x

जेटली के पत्र से इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि वे वाकई बीमार हैं। मीडिया में जेटली की एक फोटो भी वायरल हो रही है, जो उनके लगातार खराब होते स्वास्थ्य का एक बड़ा सबूत है...

जनज्वार। यह खबर थोड़ी आश्चर्यजनक मगर सच है, और इस बात की पुष्टि प्रधानमंत्री मोदी को लिखे गए अरुण जेटली के पत्र से भी होती है। मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं होने का फैसला खुद अरुण जेटली का ही है।

मंत्री पद की चाहत न रखने वाले इस खत का कारण अरुण जेटली का गिरता स्वास्थ्य है। पिछले लंबे समय से जेटली ​बीमार चल रहे हैं। फिलहाल आ रही कुछ मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक उन्हें कैंसर होने की पुष्टि हुई है और डॉक्टरों ने उन्हें अमेरिका जाकर इलाज करवाने की सलाह दी है।

हालांकि भाजपा ने इस बात का खंडन करते हुए कहा था कि जेटली के खराब स्वास्थ्य से जुड़ी अफवाहें फैलाई जा रही हैं, वे एकदम ठीक हैं। मगर आज जेटली के पत्र से इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि वे वाकई बीमार हैं। मीडिया में जेटली की एक फोटो भी वायरल हो रही है, जो उनके लगातार खराब होते स्वास्थ्य का एक बड़ा सबूत है।



प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर अरुण जेटली ने कहा है कि लगातार स्वास्थ्य की समस्याओं से जूझने के कारण वे इस बार कैबिनेट का हिस्सा नहीं बनना चाहते।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा है कि नई सरकार में उन्हें कोई मंत्री पद नहीं चाहिए, क्योंकि उनकी सेहत लगातार खराब है। जेटली ने पीएम मोदी को लिखे खत में कहा है कि 'मैं आपसे औपचारिक रूप से अनुरोध करने के लिए लिख रहा हूं कि मुझे खुद के लिए, अपने उपचार के लिए और अपने स्वास्थ्य के लिए उचित समय की ज़रूरत है और इसलिए नई सरकार में फिलहाल के लिए मैं किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं होना चाहता।'

जेटली ने आगे ​लिखा है कि आपके नेतृत्व में पिछली सरकार में 5 साल काम करना मेरे लिए खुशी और सौभाग्य की बात रही है, इससे मुझे काफी कुछ सीखने को मिला है। इससे पहले भी भारतीय जनता पार्टी ने मुझे पहली एनडीए सरकार में पार्टी संगठन में भी और विपक्ष में भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दी थीं। मैं इससे अधिक कुछ नहीं कहना चाहता।

अरुण जेटली द्वारा मोदी कैबिनेट में शामिल न होने का पत्र लिखे जाने के बाद तरह—तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कई लोग इसे लेकर दुख व्यक्त कर रहे हैं, तो कई कह रहे हैं कि जेटली जानते हैं कि नई कैबिनेट में उन्हें जगह नहीं मिलेगी इसलिए खुद—ब—खुद किनारा कर लिया।

Next Story

विविध

Share it