Top
सिक्योरिटी

बकाया मजदूरी मांगने पर रोजगार सेवक ने फोड़ा महिला का सिर, एक अन्य की हालत गंभीर

Prema Negi
9 Nov 2018 1:55 PM GMT
बकाया मजदूरी मांगने पर रोजगार सेवक ने फोड़ा महिला का सिर, एक अन्य की हालत गंभीर
x

जब मनरेगा मजदूरों ने अपनी मजदूरी मांगी तो उनके साथ मारपीट की गई। मारपीट में जहां महिला मजदूर रेशमी देवी का सिर फोड़ दिया गया, वहीं श्रीकांत की हालत भी अभी तक गंभीर बनी हुई है...

लखीमपुर खीरी से मुश्ताक़ अली अंसारी की रिपोर्ट

जनज्वार। उत्तर प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी के ब्लाक मितौली की ग्राम पंचायत रसूलपुर में मजदूरी मांगने को लेकर मारपीट के दो अलग-अलग मामले आए हैं।

ग्रामीणों ने रोजगार सेवक पर मनरेगा की मजदूरी मांगने पर अवैध वसूली का आरोप लगाया है। ग्रामीणों के मुताबिक जब मनरेगा मजदूरों ने अपनी मजदूरी मांगी तो उनके साथ मारपीट की गई। मारपीट में जहां महिला मजदूर रेशमी देवी का सिर फोड़ दिया गया, वहीं श्रीकांत की हालत भी अभी तक गंभीर बनी हुई है।

पीड़ितों की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर घायलों को मितौली सीएचसी में इलाज के लिए भेजा है।

घटनाक्रम के मुताबिक दिवाली के पहले दिन और दिवाली वाले दिन यानी 6 और 7 नवंबर को मितौली ब्लाक की ग्राम पंचायत रसूलपुर में मजदूरी मांगने को लेकर विवाद हो गया। ग्रामीणों के मुताबिक ग्राम रोजगार सेवक मनोज कुमार मनरेगा श्रमिकों से अवैध वसूली कर रहा था। इसी के चलते दीपावली पर मारपीट हो गई। इसमें एक महिला सहित दो लोगों को गंभीर चोटें आई हैं।

रसूलपुर के मजरा कमलापुर निवासी रेशमी देवी पत्नी मुन्ना लाल के मुताबिक मनरेगा के तहत उसकी मजदूरी का पैसा बाकी था। उसे 90 दिन में केवल 60 दिन की मजदूरी दी गई है, बाकी की मजदूरी मांगने पर मारपीट शुरू हो गई। शेष 30 दिन की मजदूरी मांगने पर रोजगार सेवक ने महिला के साथ मारपीट की। गंभीर रूप से घायल रेशमी देवी का इलाज चल रहा है।

वहीं दीपावली के दूसरे दिन भी आवास निर्माण में मजदूरी का पैसा मांगने पर रोजगार सेवक के पास मजदूर गए थे। अपने श्रम की मजदूरी मांगने पर रोजगार सेवक ने श्रीकांत की भी धुनाई कर दी।

मजदूरी मांगने पर पीटे गए रेशमी देवी और श्रीकांत ने थाने में जाकर घटना के संबंध में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस दोनों घायलों का डॉक्टरी परीक्षण कराकर घटनाओं की जांच में जुट गई है।

इस संबंध में जब परियोजना निदेशक से फोन पर कार्यवाही के सम्बंध में बात करने की कोशिश की गई तो नंबर वेटिंग और नॉट रिचेबल जाता रहा। वहीं इस घटना को निंदनीय बनाते हुए समाजवादी मजदूर सभा इस पर कठोर कार्यवाही करने की मांग की है।

Next Story

विविध

Share it