Top
चुनावी पड़ताल 2019

पुलवामा का 'यूज' भाजपा वैसे ही कर रही है जैसे किया था राममंदिर का : स्वामी अग्निवेश

Prema Negi
25 March 2019 5:00 AM GMT
पुलवामा का

अग्निवेश कहते हैं, देश के सबसे बड़ा घोटालेबाज प्रधानमंत्री मोदी का खुद को चौकीदार कहने से बड़ा मजाक कोई नहीं हो सकता, एक मोदी और दूसरे शाह ही हैं पूरी बीजेपी और सरकार, बाकी कैबिनेट का मुंह रखा गया है बंद करके...

जनज्वार। इस बार के चुनाव को फैसलाकून कहने वाले जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता, बुद्धिजीवी और हरियाणा सरकार में मंत्री रहे स्वामी अग्निवेश कहते हैं कि यह चुनाव देश को नए दौर की तरफ ले जाएगा। पिछले 5 सालों में जिस तरह से मोदी ने संस्थाओं को खत्म किया, संवैधानिक मूल्यों का कत्ल किया, इसके अलावा और कई संस्थाओं को खत्म किया है, ऐसे में बहुत जरूरी है कि इन पर बात हो और इन्हीं मुद्दों पर चुनाव लड़ा जाए।

बकौल स्वामी अग्निवेश मोदी सरकार ने 5 साल पहले घोषणापत्र में जो भी वादे किए थे, वो सिर्फ हवा—हवाई साबित हुए। किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारी वर्ग को लेकर जो वादे किए थे, वो झूठे निकले। भ्रष्टाचार को मिटाने का वादा कर सत्ता में आई मोदी सरकार खुद भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी है। अब तक का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार राफेल इस सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि है। खुद को चौकीदार कहने वाले मोदी पर एक शायरी बिल्कुल ठीक बैठती है, पासवां (चौकीदार) जब चोर हो तो कौन रखवाली करे, उस चमन का हाल क्या माली जो पामाली करे।

स्वामी अग्निवेश के मुताबिक देश की हालत यह हो गई है कि खुद प्रधानमंत्री जो खुद को चौकीदार कहता है, सबसे बड़े घोटाले यानी 30 हजार करोड़ रुपए के लेनदेन में, देश के रक्षासौदे के साथ खिलवाड़ करता है। उसके बाद भी 56 इंच की छाती यह दावा करती है कि हम ये कर देंगे, वो कर देंगे। एक तो चोरी, दूसरी सीनाजोरी इस सरकार की फितरत है। उस पर नकली साहस एकदम बनावटी है, जिसे गोदी मीडिया हवा दे रही है।

एक नरेंद्र मोदी और दूसरे अमित शाह ही पूरी बीजेपी और सरकार हैं, बाकी कैबिनेट का मुंह बंद किया गया है, कोई किसी मुद्दे पर बोल नहीं सकता। ऐसे हालातों में अगर मोदी सरकार फिर से सत्तासीन होती है तो हालात बहुत कठिन और खतरनाक होंगे। फिर शायद देश, प्रजातंत्र को बचाने का वक्त भी न मिले।

अग्निवेश कहते हैं, अभी कुछ दिन पहले पुलवामा आतंकी हमला हुआ, जिसमें हमारे 46 जवान शहीद हो गए। उसके बाद खबर आई कि भारत ने इसका बदला लेने के लिए पाकिस्तान पर हमला कर जैश—ए—मोहम्मद के ठिकानों को नेस्तनाबूद कर 300 लोगों को मार गिराया। यह खबर शुद्ध गोदी मीडिया प्रायोजित थी, क्योंकि न तो पाक पर हमला करने वाली सेना ने यह दावा किया कि 300 आतंकी मार गिराये और अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने तो भाजपा के दावे का खूब मजाक उड़ाया। जांच में बाद में सामने भी आया कि भारतीय सेना ने जहां बम गिराये वह ​जंगलों का इलाका था, और हमले में सिर्फ एक व्यक्ति को चोटें आई थीं।

संबंधित खबर : पुलवामा हमले के वक्त प्रधानमंत्री अपने ऊपर फ़िल्म करा रहे थे शूट

बावजूद इसके मोदी एंड कंपनी का दुस्साहस देखिए कि वह इस बार के चुनाव के लिए पुलवामा को ठीक वैसे भुना लेना चाहती है, जैसे राम मंदिर को यूज किया था।

देखें वीडियो :

Next Story

विविध

Share it