Top
राजनीति

BJP कार्यकर्ता की गुंडागर्दी, मज़दूरों को गांव भेजने के नाम पर लाखों वसूले, टिकट मांगने पर किया लहूलुहान

Raghib Asim
8 May 2020 12:19 PM GMT
BJP कार्यकर्ता की गुंडागर्दी, मज़दूरों को गांव भेजने के नाम पर लाखों वसूले, टिकट मांगने पर किया लहूलुहान
x

सूरत के लिंबायत विस्तार के भाजपा के एक कार्यकर्ता पर श्रमिकों के पास से टिकट के पैसे वसूल लेने के बाद टिकट अन्य लोगों को बेच देने का आरोप लगा है। जिस व्यक्ति ने टिकट के लिए रुपए दिए थे, उसके टिकट मांगने पर भाजपा के कार्यकर्ता ने उस पर जानलेवा हमला कर दिया...

जनज्वार। सूरत समेत कई बड़े शहरों से श्रमिक अपने गांव जा रहे हैं। इस बीच काला बाजारी करने वाले एजेन्ट भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराने लगे हैं। श्रमिकों के पास से एजेन्ट मूल किराये की तुलना में लाखों में रुपए वसूलकर उन्हें गांव भेजने की व्यवस्था कर रहे हैं, तो भी लाखों रुपए खर्च करके कुछ श्रमिकों के साथ अन्याय होने की घटनाएं सामने आ रही है।

सूरत से एक ऐसी घटना सामने आई है कि जिसे देख कर आप के रोंगटे खड़े हो जायेंगे। सूरत के लिंबायत विस्तार के भाजपा के एक कार्यकर्ता पर श्रमिकों के पास से टिकट के पैसे वसूल लेने के बाद टिकट अन्य लोगों को बेच देने का आरोप लगा है। जिस व्यक्ति ने टिकट के लिए रुपए दिए थे, उसके टिकट मांगने पर भाजपा के कार्यकर्ता ने उस पर जानलेवा हमला कर दिया। इस मामले में श्रमिक ने सोशल मीडिया में वीडियो वायरल किया था।

जिसमें स्पष्ट देखा जा सकता है कि श्रमिक के सिर से खून निकल रहा है। सूरत में भाजपा कार्यकर्ता का अन्य एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह श्रमिकों से दादागिरी करता दिख रहा है। वीडियो में जिस युवक को पीटा था उसका मकान खाली कराने का भी भाजपा कार्यकर्ता पर आरोप लगा है। भाजपा कार्यकर्ता ने मकान मालिक को कहकर मकान खाली करवाया था। जिससे श्रमिक की हालत दयनीय हुई थी। यह श्रमिक परिवार अपने 3 बच्चों के साथ फुटपाथ पर रहने के लिए मजबूर बन गया। लिंबायत पुलिस थाने में राजेश वर्मा के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई गई है।

लिंबायत विस्तार से झारखंड जाने के लिए भाजपा ने राजेश वर्मा नामक व्यक्ति को यह काम सौंपा है। भाजपा के राजेश वर्मा को श्रमिक वासुदेव ने 5 मई को 100 लोगों की टिकट के तौर पर 1.16 लाख रुपए चुकाए थे। उस समय राजेश वर्मा ने वासुदेव को 6 मई को टिकट लेकर जाने को कहा था। वहीं टिकट नहीं मिलने से वासुदेव सात मई को राजेश वर्मा के घर गया और अपना टिकट मांगा था। उस समय भाजपाई कार्यकर्ता ने टिकट देने के बजाय उसके सिर में डंडे से वार कर उसे लहूलुहान कर दिया था।

इस घटना के बाद वासुदेव ने एक वीडियो सोश्यल मीडिया में वायरल किया था। इस वीडियो में उसने आरोप लगाया है कि राजेश वर्मा ने टिकट के पैसे वसूलने के बाद टिकट लेकर काला बाजार में अन्य लोगों को बेच दिया है। उसके आरोप के अनुसार एक टिकट दो हजार रुपए में बेचा गया है। हमले की घटना के बाद रात को भाजपा के कार्यकर्ता राजेश वर्मा के ऑफिस के बाहर लोगों का समूह एकत्र हो गया। इस बात की जानकारी होने पर पुलिस दौड़ी आई थी। पुलिस समक्ष समूह ने आरोप लगाया कि राजेश वर्मा ने पैसे लेकर टिकट नहीं दिया। बाद में पुलिस ने ट्रेन की व्यवस्था और पैसे वापस दिलाने का आश्वासन दिया तब जाकर मामला शांत हुआ।

Next Story

विविध

Share it