Top
राष्ट्रीय

बॉर्डर पर बढ़ता तनावः LAC के पास दिखे चीन के हेलीकॉप्टर, भारतीय लड़ाकू विमानों ने भी भरी उड़ान

Manish Kumar
12 May 2020 11:28 AM GMT
बॉर्डर पर बढ़ता तनावः LAC के पास दिखे चीन के हेलीकॉप्टर, भारतीय लड़ाकू विमानों ने भी भरी उड़ान
x

यह घटना पिछले हफ्ते लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारतीय सेना के जवानों और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों के बीच झड़पों के बाद हुई है...

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच इन दिनों बढ़ते तनाव की एक और बानगी मंगलवार को देखने को मिली। चीन के सैन्य हेलीकॉप्टरों ने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास उड़ान भरी है, जिसके जवाब में भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू विमानों ने भी उड़ान भरी।

हलांकि, आईएएफ के अधिकारियों ने इसे 'सामान्य दिनचर्या' (रूटीन अफेयर) बताया है। यह घटना पिछले हफ्ते लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारतीय सेना के जवानों और चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों के बीच झड़पों के बाद हुई है।

यह भी पढ़ें - कश्मीर में सब इंस्पेक्टर के बाद अब CRPF के जवान ने की आत्महत्या

भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के एक अधिकारी ने कहा, "चीन के सैन्य हेलीकॉप्टरों ने अपने क्षेत्र में और हमारे लड़ाकू विमानों ने हमारे क्षेत्र में उड़ान भरी है। यह सामान्य दिनचर्या है।" उन्होंने एलएसी पर आक्रामक रुख की बात को भी खारिज कर दिया।

अधिकारी ने कहा, "मंगलवार को भी चीनी सैन्य हेलीकॉप्टर एलएसी के करीब उड़ान भर रहे थे और हमारे विमान भी नियमित रूप से उड़ान भर रहे थे।"

रवैये के बारे में पूछे जाने पर, अधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा, "इसे अनावश्यक रूप से सनसनीखेज बनाया जा रहा है। यह एक नियमित मानक संचालन प्रक्रिया है।"

यह भी पढ़ें - वुहान के लैब से कोरोना के पैदा होने के अमेरिका के पास अहम सबूत, विदेश मंत्री का दावा

एलएसी के पास चीन के सैन्य हेलीकॉप्टरों को उड़ाने के कार्य को भारतीय सैन्य प्रतिष्ठान द्वारा एक उकसावे के रूप में देखा जा रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के विपरीत, एलएसी स्पष्ट रूप से चिह्न्ति नहीं है। भारत-चीन सीमा विवाद 3,488 किलोमीटर लंबे एलएसी को शामिल करता है।

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच उत्तरी सिक्किम और लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले एक सप्ताह में दो बार हाथापाई हो चुकी है।

सूत्रों ने कहा था कि उत्तरी सिक्किम में दोनों सेनाओं के बीच झड़प के दौरान चार भारतीय जवान और चीन के आधा दर्जन सैनिक घायल हो गए थे।

Next Story

विविध

Share it