Top
राजनीति

प्रियंका गांधी ने UP में अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर योगी सरकार को घेरा, कहा जमीनी सच्चाई प्रचार से अलग

Prema Negi
1 Jun 2020 1:02 PM GMT
प्रियंका गांधी ने UP में अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर योगी सरकार को घेरा, कहा जमीनी सच्चाई प्रचार से अलग
x

प्रयागराज के कोटवा बनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद मरीज सुविधाओं का बुरा हाल बयान कर रहे हैं। जमीन की सच्चाई मुख्यमंत्री जी के प्रचार से एकदम अलग है...

लखनऊ, जनज्वार। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रयागराज के कोटवा बनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में कोरोना मरीजों को हो रही असुविधाओं पर चिंता जताते हुए प्रदेश की योगी सरकार पर तंज कसा है।

प्रियंका गांधी ने कोटवां बनी हास्पिटल में असुविधाओं से नाराज मरीजों के हंगामा का वीडियो भी शेयर किया है। उन्होंने लिखा है, "प्रयागराज के कोटवा बनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद मरीज सुविधाओं का बुरा हाल बयान कर रहे हैं। जमीन की सच्चाई मुख्यमंत्री जी के प्रचार से एकदम अलग है। यूपी में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में इन सुविधाओं के हाल को सुधारना बहुत जरूरी है।"

गौरतलब है कि कोटवा बनी हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों ने कुछ दिनों पहले बदइंतजामी को लेकर हंगामा किया था और जमकर नारेबाजी की थी। यहां भर्ती कोरोना मरीजों का आरोप था कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को न तो समय से न ही गुणवत्तायुक्त भोजन दिया जा रहा है, न ही यहां पर कोई सुविधाएं ही हैं।



?s=20

रीजों के हंगामे का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था। मरीजों ने यहां की व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन और जिले के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निशाने पर लिया था।

गौरतलब है कि प्रयागराज के कोटवा में बने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 28 मई को कोरोना के कुछ मरीजों ने पानी और भोजन की समस्या को लेकर हंगामा किया था और इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ था। इस वीडियो को लेकर जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी जी एस बाजपेयी ने स्पष्टीकरण दिया था कि मोटर का एमसीबी दो घंटे के लिए खराब हो गया थाए जिसे बदल दिया गया है।

सीएमओ ने यह भी बताया था कि सभी मरीज नहाने के लिए मोटर से आने वाले ताजे पानी का इस्तेमाल करते हैं। छत की टंकी में पानी भरा होने के बावजूद मरीज इस पानी का इस्तेमाल नहीं करते। एमसीबी खराब होने से उन्हें सुबह ताजा पानी नहीं मिल पाया था।

Next Story

विविध

Share it