Top
बिहार

नीतीश सरकार ने दिया इलेक्ट्रिकल, ऑटोमोबाइल दुकानें खोलने की इजाजत, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ेंगी धज्जियां

Nirmal kant
7 May 2020 1:30 AM GMT
नीतीश सरकार ने दिया इलेक्ट्रिकल, ऑटोमोबाइल दुकानें खोलने की इजाजत, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ेंगी धज्जियां
x

जब इन दुकानों को खोलने की इजाजत सरकार की तरफ से दी ही जा चुकी है, तो भला भीड़ कैसे रुक पायेगी वो भी बिहार जैसे राज्य में। कहीं बिहार सरकार का यह फैसला भी शराब की बिक्री खोलने जैसा साबित न हो...

जनज्वार ब्यूरो। बिहार में राज्य सरकार ने लोगों को बड़ी राहत देते हुए कुछ दुकानों को खोलने की इजाजत दी है। इनमें इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक, ऑटोमोबाइल, हार्डवेयर और निर्माण कार्य से जुड़ी सामाग्री वाली दुकानें शामिल हैं।

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी द्वारा बुधवार 6 मई को जारी आदेश में कहा गया है कि दुकानों के खुलने की वजह से भीड़भाड़ न हो, यह सुनिश्चित करना जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी। इसके लिए उन्हें अपने-अपने क्षेत्र में दुकानों को खोलने के आदेश निर्गत करने का भी अधिकार दिए गए हैं।

संबंधित खबर: गेहूं से लदे ट्रक में वाराणसी से झारखंड जा रहे थे 15 मजदूर, बैरियर से टकराकर 2 की मौत

वाल यह है कि जब इन दुकानों को खोलने की इजाजत सरकार की तरफ से दी ही जा चुकी है, तो भला भीड़ कैसे रुक पायेगी वो भी बिहार जैसे राज्य में। कहीं बिहार सरकार का यह फैसला भी शराब की बिक्री खोलने जैसा साबित न हो, जिसने लॉकडाउन की धज्जियां उड़ायीं और शराब की दुकानें खुलने के बाद देश में सर्वाधिक कोरोना के मामले सामने आये।

विभाग द्वारा जारी आदेश में इलेक्ट्रिकल सामान जैसे पंखा, कूलर, एसी (बिक्री एवं मरम्मत), इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे- मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, यूपीएस और बैट्री (बिक्री एवं मरम्मत), ऑटोमोबाइल्स, टायर व ट्यूब, लुब्रिकेंट, निर्माण सामग्री भंडारण और बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, सीमेंट ब्लॉक, ईंट, प्लास्टिक पाइप, हार्डवेयर, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंट व शटरिंग सामग्री की दुकानें खोलने के आदेश दिए गए हैं।

सके अलावा इस सूची में ऑटोमोबाइल, स्पेयरपार्ट्स की दुकानें, हाईसिक्यूरिटी नंबर प्लेट की दुकान तथा प्रदूषण जांच केंद्र को भी कुछ शर्तो के साथ शामिल हैं।

संबंधित खबर: बिहार में कोरोना के बाद बरपा प्रकृति का कहर, वज्रपात से 9 की मौत

गृह विभाग ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि दुकानें खुलने से भीड़भाड़ न हो। इसका पूरा ध्यान रखा जाए। जिलाधिकारी चाहे तो अलग-अलग समय या अलग-अलग दिन दुकानों को खोलने का निर्णय ले सकते हैं। भीड़भाड़ कम करने के लिए क्या कदम उठाने हैं, उन्हीं के स्तर से तय होगा। दुकानों को कब और किस दिन खोलना है इसका आदेश अलग से जारी करेंगे।

Next Story
Share it