Top
जनज्वार विशेष

दलित युवक को पीट-पीटकर आंबेडकर को दिलवायी गाली, फिर बनाया वीडियो

Prema Negi
24 July 2018 12:18 PM GMT
दलित युवक को पीट-पीटकर आंबेडकर को दिलवायी गाली, फिर बनाया वीडियो
x

जब दलित युवा बोलने में थोड़ा हकला रहा है तो उसे घूंसे मारकर डराया-धमकाया जा रहा है और जबरन गालियां बोलने को कहा जा रहा है...

मेरठ, जनज्वार। देश में दलितों—मुस्लिमों पर होने वाला दमन—अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अब अगड़ी जाति के लोगों ने उत्तर प्रदश के मेरठ में एक दलित युवक की बेहरमी से पिटाई करने के बाद फिर उसके मुंह से बाबा भीमराव आंबेडकर को न सिर्फ भद्दी-भद्दी गालियाँ दिलवाईं, बल्कि उसका ​वीडियो भी बनाया।

योगी आदित्यनाथ के राज में दलित युवा के मुंह से आंबेडकर को गालियां बकवाने वाला यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कुछ लोग जबरन दलित युवा से कहलवा रहे हैं, 'मैं चमार, मुर्दाबाद, जट भाई हिंदुस्तान में जिंदाबाद, अंबेडकर की मां की..., अंबेडकर मुर्दाबाद...'

जब दलित युवा बोलने में थोड़ा हकला रहा है तो उसे घूंसे मारकर डराया-धमकाया जा रहा है और जबरन गालियां बोलने को कहा जा रहा है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक यह मामला मेरठ के परीक्षितगढ़ का है। 19 जुलाई को यहां रहने वाले दलित युवा लवली को घर से फोन करके राहुल, भोलू व एक अन्य युवक ने बाहर बुलाया और फिर उसे कहीं अनजान जगह ले गए। वहां पहले उसे जबरन शराब पिलाई गई और नशीला पदार्थ खिलाया गया और फिर उसके साथ मारपीट की गई।

मारपीट का वीडियो भी आरोपियों ने खुद बनाया। वीडियो में साफ—साफ देखा जा सकता है कि युवक को खुद को जातिसूचक शब्द बोलने पर मजबूर किया गया, फिर उससे जबरन डॉ. भीमराव अांबेडकर के लिए अपशब्द बुलवाए गए। ये सब करने के बाद आरोपित उसे वहीं छोड़कर भाग गए और वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया।

युवा को प्रताड़ित किए जाने पर तरह—तरह की प्रतिक्रियायें आ रही हैं। बलवीर सिंह वरुण ने ट्वीट किया है, 'जनपद मेरठ के डीएम एवं एसपी को अगर कही से भनक लग गई हो तो मामले की छानबीन कर दोषियों को दण्डित करने का कष्ट करें या फिर स्पष्ट करें कि बीजेपी नेताओं और CM योगी जी के कहने पर दलितों पर दरिंदगी का धंधा चल रह है! शासन प्रशासन चौपट हो चुका है!'

विकास मेश्राम ने ट्वीट किया है, 'जहाँ पर भी भाजपा की सरकार हैं, वहीं पर यह सब होता है।' तो धनंजय लिखते हैं, 'ये है मनुवादियों का इंडिया। लो मनुवादियों को वोट देने का खामियाजा भुगतो। चैन से जीना है तो एससी/एसटी, ओबीसी और माइनोरिटीज मिलकर इन मनुवादियों को 2019 में हराओ और बहुजनों की सत्ता लाओ।'

हालांकि कई लोगों ने इस घटना को जायज ठहराते हुए तमाम गाली—गलौज भरे कमेंट भी सोशल मीडिया पर किए हैं, मानो दलित होना कोई पाप हो। या फिर ऐसा कर वो सीधे—सीधे केंद्र की मोदी और राज्य की योगी सरकार का बचाव कर रहे हों।

Next Story

विविध

Share it