राजनीति

केरल में बाढ़ से अब तक लगभग 100 की मौत, 50 से ज्यादा लापता

Prema Negi
13 Aug 2019 5:39 AM GMT
केरल में बाढ़ से अब तक लगभग 100 की मौत, 50 से ज्यादा लापता
x

8 अगस्त से अब तक केरल के 14 बाढ़ प्रभावित जिलों में लगभग 100 लोगों की मौत और 50 से भी ज्यादा लोगों के लापता होने की खबर, कर्नाटक में भी बाढ़ के चलते 50 से ज्यादा लोगों ने गंवाई जान...

जनज्वार। देश में कहीं बाढ़ के कारण भारी जान माल का नुकसान हो रहा है तो कहीं सूखे के हालात बने हुए हैं। केरल में ही मात्र 4 दिनों में बाढ़ के चलते 88 लोगों की मौत की खबर है, वहीं 40 से भी ज्यादा लोग लापता हो गये हैं।

8 अगस्त से अब तक केरल के 14 बाढ़ प्रभावित जिलों में लगभग 100 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 50 से भी ज्यादा लोगों के लापता होने की खबर सामने आ रही है। बाढ़ के चलते राज्य में कई ट्रेनें कैंसिल कर दी गई हैं।

बाढ़ से होने वाले इस भयावह आंकड़े के सामने आने के बावजूद बात-बात पर ट्वीट करने वाले नेताओं के मुंह में दही जमी हुई है। ऐसा लग रहा है जैसे केरल हमारे देश का हिस्सा नहीं है और वहां होने वाली मौतों से भी उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है।

ब इतनी भारी मौतों का आंकड़ा सामने आया है, उसके बाद केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के बाढ़ प्रभावित इलाकों में दौरा करने खबर सामने आ रही है। हालांकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा कर रहे हैं। गौरतलब है कि राहुल गांधी वायनाड से सांसद हैं।

केरल से कर्नाटक तक बाढ़ ने भारी तबाही मचायी हुई है। कर्नाटक में भी बाढ़ से अब 50 से ज्यादा लोगों की जान जाने की खबर आ रही है। हालांकि यह सरकारी आंकड़ा है, हकीकत में भयावहता इससे कहीं ज्यादा होगी और होने वाली मौतों का आंकड़ा भी।

गातार हो रही बारिश के कारण केरल में बाढ़ के हालात बने और बाढ़ से वहां भारी जान—माल का नुकसान हुआ है। खबरों के मुताबिक अब तक केरल में 2 लाख 87 हजार से अधिक लोगों को अपना घर छोड़कर 1654 से अधिक राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी है। खबरों के मुताबिक ही केरल के वायनाड में सर्वाधिक मौतें हुई हैं।

राज्य के कृषि मंत्री वीएस सुनील कुमार की तरफ से दिए गए प्रारंभिक अनुमानों के मुताबिक बाढ़ के चलते राज्य में 18 हजार हेक्टेयर से अधिक की फसलों को नुकसान पहुंचा है। इससे तकरीबन 81 हजार किसानों के प्रभावित होने की खबर सामने आ रही है। वहीं अनुमान है कि बाढ़ के कारण राज्य में 800 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वायनाड में सर्वाधिक मची तबाही पर कहा, 'यह न केवल वायनाड, बल्कि केरल और कुछ दक्षिणी राज्यों के लिए भी भयावह त्रासदी है। यह केवल वायनाड का मुद्दा नहीं है, यह केरल का मुद्दा है, यह कर्नाटक का मुद्दा है। मुझे लगता है कि केंद्र सरकार को इन राज्यों के लोगों पर ध्यान देने और व्यापक पैमाने पर समर्थन करने की सख्त जरूरत है। तभी यहां के लोग इस भयावहता से बाहर आ पायेंगे।

Next Story

विविध

Share it