Top
राजनीति

भाजपा विधायक ने धमकाया महिला एसडीएम को, कहा जानती नहीं मैं कौन हूं

Prema Negi
18 Dec 2018 7:21 AM GMT
भाजपा विधायक ने धमकाया महिला एसडीएम को, कहा जानती नहीं मैं कौन हूं
x

आगरा से भाजपा विधायक उदयभान चौधरी द्वारा महिला एसडीएम गरिमा सिंह को धमकाने वाला वीडियो हो रहा वायरल

जनज्वार। बीजेपी नेताओं के उल—जुलूल बातों के वीडियो आए दिन सोशल मीडिया पर वायरल होते रहते हैं। हालिया वीडियो जुड़ा है आगरा से भाजपा विधायक उदयभान चौधरी से, जिन्होंने सरेआम महिला एसडीएम गरिमा सिंह को धमकाते हुए कहा कि तुम जानती नहीं कि मैं विधायक हूं, तुमको मेरी ताकत का अंदाजा नहीं है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक बीजेपी विधायक उदयभान चौधरी आगरा की महिला एसडीएम गरिमा सिंह से किसानों के मुद्दे पर बातचीत करने गए थे। इसी दौरान उन्होंने एसडीएम गरिमा सिंह जिस अंदाज में धमकाया, और जो चौधराहट दिखाई उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में बीजेपी विधायक उदयभान चौधरी कहते सुनाई दे रहे हैं कि 'क्या आपको नहीं पता है कि मैं विधायक हूं? क्या तुमको मेरी ताकत और लोकतंत्र की ताकत का अंदाजा नहीं है?'

यह वीडियो वायरल होने के बाद उदयभान चौधरी और बीजेपी की खूब आलोचना हो रही है। लोग कह रहे हैं कि एक विधायक का पब्लिक पैलेस पर सरेआम महिला अधिकारी को इस तरह से धमकाना गिरी हुई हरकत है।

हालांकि यह कोई पहला वाकया नहीं है कि किसी नेता ने सरेआम किसी नौकरशाह को धमकाया है। नेताओं का एक पुराना इतिहास रहा है अधिकारियों के बुरे बर्ताव और अपनी औकात दिखाने का।



पिछले वर्ष 2017 में भी एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें जेल में बंद एनसीपी विधायक पुलिस अधिकारी के साथ बदसलूकी कर रहे थे। जानकारी के मुताबिक तब मुंबई की बायखुला जेल के बाहर खड़े होकर एनसीपी विधायक रमेश कदम पुलिस अधिकारी के साथ पिकप वैन का इंतजार कर रहे थे। वैन आने में लेट हुआ तो विधायक रमेश कदम आपे से बाहर हो गए और वहां मौजूद पुलिस अफसर के साथ गाली—गलौज पर उतर आए। यह पूरी घटना भी कैमरे में कैद हो गई थी, जिसे बाद में सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया।

गौरतलब है कि जेल में बंद रमेश कदम को 300 करोड़ के घोटाले में अगस्‍त, 2015 को गिरफ्तार किया गया था, मगर हेकड़ी देखकर लग रहा था जैसे उन्होंने घोटाला नहीं जनता के लिए कोई महान काम किया हो।

यही नहीं 2017 में उत्तर प्रदेश और देश में राज कर रही भाजपा की एक महिला सांसद प्रियंका सिंह ने आॅन कैमरा पुलिस वाले की खाल खिंचवा लेने की धमकी दी थी। ऐसा महिला सांसद ने इसलिए किया क्योंकि उसे पुलिस अधिकारी का बर्ताव पसंद नहीं आया था।

ताज्जुब की बात यह है कि बीजेपी की बाराबंकी से लोकसभा सांसद प्रियंका सिंह रावत से जब इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया तो उन्हें पुलिस अधिकारी को खाल खिंचवाने वाले बयान पर कोई अफसोस नहीं हुआ।

संबंधित खबर : भाजपा नेत्री ने खुलेआम धमकाया आईएएस अधिकारी को, कहा जीना मुश्किल कर दूंगी

इतना ही नहीं पिछले साल 12 दिसंबर को बाराबंकी के ट्रेनी आईएएस अजय द्विवेदी अपनी टीम के साथ एक अवैध क़ब्ज़ा हटाने के लिए संबंधित गांव में गए हुए थे तो इस दौरान सांसद प्रियंका सिंह रावत भी वहां पहुंची। उन्होंने न सिर्फ अवैध कब्जा हटाने के आईएएस अजय द्विवेदी के अभियान पर रोक लगाई, बल्कि खुलेआम गुंडागर्दी पर भी उतर आईं। उनके द्वारा आईएएस को खुलेआम दी जा रही धमकी का किसी ने वीडियो बना लिया, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ।

Next Story

विविध

Share it