Top
शिक्षा

शिक्षकों ने सजा के तौर पर 88 ​छात्राओं से उतरवाए कपड़े

Janjwar Team
30 Nov 2017 9:31 AM GMT
शिक्षकों ने सजा के तौर पर 88 ​छात्राओं से उतरवाए कपड़े
x

अरुणाचल प्रदेश में तीन शिक्षकों ने सजा के तौर पर छात्राओं को अपने कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया...

पूर्वोत्तर के राज्य अरुणाचल प्रदेश के पापुम पारे जिला के एक बालिका विद्यालय में प्रिंसिपल को लेकर कोई टिप्पणी करने की सजा के तौर पर छात्राओं से कपड़ा उतरवाने का मामला सामने आया है।

पुलिस ने बताया कि पापुम पारे जिले में तनी हप्पा स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की छठी और सातवीं कक्षा की 88 छात्राओं को स्कूल में 23 नवंबर को कपड़ा उतारने की सजा भुगतनी पड़ी। लड़कियों के साथ हुए इस अपमानजनक व्यवहार का खुलासा 27 नवंबर को तब सामने आया, जब भुक्तभोगी लड़कियों ने ऑल सागली स्टूडेंट्स यूनियन से संपर्क किया। छात्र यूनियन ने स्थानीय पुलिस में इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार दो सहायक शिक्षकों और एक जूनियर शिक्षक ने 88 छात्राओं को अन्य छात्राओं के सामने अपने कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया। शिक्षकों ने ऐसी वाहियात सजा देने का फैसला इसलिए किया, क्योंकि इन्हें छात्राओं के पास से एक कागज मिला था जिस पर प्रधानाध्यापक और एक छात्रा के खिलाफ अश्लील शब्द लिखे थे।

इस घटना की अरुणाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इस घटना की निंदा की और कहा कि शिक्षकों की ऐसी जघन्य हरकत छात्राओं को प्रभावित कर सकते हैं। इसने एक बयान में कहा कि किसी बच्चे की गरिमा से छेड़छाड़ करना कानून और संविधान के खिलाफ है।

Next Story

विविध

Share it