लॉकडाउन के बाद भी लगातार बढ़ते मामलों की वजह से आम लोगों के मन में कोरोना का खौफ बैठ गया है. कर्नाटक के उडुपी के एक शख्स ने कोरोना होने के शक में आत्महत्या कर ली…

जनज्वार। कोरोना के चलते भारत समेत पूरी दुनिया सकते में है. विश्व के ज्यादातर देशों ने लॉकडाउन कर दिया है. भारत में भी 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है. देश में डॉक्टर्स, नर्सेज की टीम 12-12 घंटे काम कर रही है. सरकार बार-बार लोगों से घरों में ही रहने की अपील कर रही है. लेकिन लॉकडाउन के बाद भी लगातार बढ़ते मामलों की वजह से आम लोगों के मन में कोरोना का खौफ बैठ गया है. कर्नाटक में एक आदमी ने कोरोना के डर से आत्महत्या कर ली.

संबंधित खबर : बिहार में कोरोना वायरस के 6 मामले पॉजिटिव-एक की मौत, मरीजों की जांच रिपोर्ट में हो रही देरी

दमी का नाम गोपालकृष्ण मड़ीवाला था. उसकी आयु 56 वर्ष बताई जा रही है. गोपाल को लग रहा था कि वो कोरोना वायरस की चपेट में आ चुका है. इससे डरकर उसने फांसी लगा ली. गोपाल उडुपी के ब्रह्मवार से था और वो कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम के साथ काम कर रहा था. उसके शव को मणिपाल केएमसी में शिफ्ट किया गया है. वहीं उसके परिवार वालों का कहना है कि वो डिप्रेशन में थे, उन्हें कोई बुखार नहीं था और ना कोरोना के कोई लक्षण थे.

संबंधित खबर: दिल्ली के पहले कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगी ने कैसे रिकवर की जिंदगी, बताए अपने अनुभव

ह रात के दो बजे तक जगे हुए थे और अपने परिवार के सदस्यों से बात कर रहे थे. बुधवार को सुबह 5 बजे जब घर के अन्य लोग उठे तो उन्हें उनका शव घर के पास एक पेड़ से लटका हुआ मिला. उनके घर से एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा है कि उन्हें अपने कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है जिसके चलते वह अपनी जान ले रहे हैं. नोट में परिवार के सदस्यों को सुरक्षित रहने के लिए कहा गया है. फिलहाल शव का पोस्टमार्टम होना है जिसके बाद ही मौत का कारण पता चल सकेगा.

संबंधित खबर : कोरोना वायरस से भारत के 80 फीसदी से ज्यादा प्रवासी मजदूरों की आजीविका पर संकट

रिवार वालों के मुताबिक गोपालकृष्ण सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर तमाम जानकारियों से चिंता में आ गए थे. वो हर समय इसकी चिंता में डूबे रहते थे. पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक रिपोर्ट में ये सामने आया है कि शख्स ने संभवतया कोरोना के डर से आत्महत्या की. बता दें कि कर्नाटक में कोरोनावायरस का पहला मामला 9 मार्च को सामने आया था. बुधवार को राज्य में 9 नए मामले सामने आए. जिसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 51 हो गई है. इनमें से सिर्फ 32 मामले तो राजधानी बेंगलुरू से सामने आए.

ढ़ते मामलों और लॉकडाउन के बीच कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. इससे पहले दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में 35 साल के व्यक्ति ने सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली थी. मृतक के कोरोना से संक्रमित होने की आशंका थी. देश में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अभी तक इससे 649 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 14 लोगों की मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कुल संक्रिमतों में से 602 भारतीय जबकि 47 विदेशी हैं. वहीं कोरोना वायरस से पीड़ित 43 मरीज ठीक हो चुके हैं.


जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism