Top
सिक्योरिटी

पहली बार भाजपा-कांग्रेस के घोषणापत्र में दिखा पर्यावरण का मुद्दा

Prema Negi
17 April 2019 10:03 AM GMT
पहली बार भाजपा-कांग्रेस के घोषणापत्र में दिखा पर्यावरण का मुद्दा
x

प्रतीकात्मक फोटो

काफी सुखद समाचार है कि दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी में बैठने वाले हुक्मरानों और उनकी पार्टियों को आजादी के 70 साल बाद यह अहसास हुआ कि घोषणापत्रों में पर्यावरण को भी एक मुद्दे के तौर पर रखा जाना चाहिए।

जनज्वार, दिल्ली। 2019 चुनावों में पहली बार दो राष्ट्रीय पार्टियों भाजपा और कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणापत्रों में पर्यावरण की चिंता के साथ चर्चा की है। हालांकि पहले कांग्रेस ने जाहिर की, उसके भाजपा को लगा कि इसे शामिल किया जाना चाहिए। कांग्रेस ने हेल्थ इमरजेंसी मानते हुए अपने घोषणापत्र में शामिल किया है तो भाजपा ने पहाड़ी राज्यों को ग्रीन बोनस देने की बात कही है।

ऐसे में सवाल यह है कि क्या यह सिर्फ घोषणापत्र की शोभा बढ़ाने के लिए और पाप छुड़ाने के लिए इन पार्टियों ने घोषणापत्र में पर्यावरण के मुद्दे को शामिल किया है या फिर कोई गंभीरता भी है।

आइए, इस पूरे मामले को पिछले 20 वर्षों से पर्यावरण के सवालों पर पत्रकारिता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार हृदयेश जोशी से समझते हैं...

हृदयेश जोशी से अजय प्रकाश की बातचीत

Next Story
Share it