Top
राजनीति

मध्यप्रदेश के बाद अब गुजरात की राजनीति में भूचाल, कांग्रेस के 5 विधायकों ने दिया इस्तीफा

Janjwar Team
15 March 2020 11:16 AM GMT
मध्यप्रदेश के बाद अब गुजरात की राजनीति में भूचाल, कांग्रेस के 5 विधायकों ने दिया इस्तीफा
x

राज्यसभा के चुनाव आते ही कांग्रेस के नाराज 5 विधायकों ने दिया इस्तीफा, अहमदाबाद से जयपुर पहुंचे 14 विधायक...

अहमदाबाद से दत्तेश भवसार की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। राज्यसभा के चुनाव आते ही हर बार गुजरात में खरीद-फरोख्त की राजनीति शुरू हो जाती है पिछले चुनाव में भी अहमद पटेल को चुनाव जीतने के लिए लोहे के चने चबाने पड़े थे हालांकि उस समय अहमद पटेल चुनाव जीते थे। वही परिस्थिति आज गुजरात की राजनीति में दिख रही है। शनिवार देर रात गुजरात में कांग्रेस के 4 विधायकों ने अपने इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष को सौंपे जिसकी पुष्टि विधानसभा अध्यक्ष ने की। रविवार को एक और विधायक ने अपना इस्तीफा दिया है लेकिन उनके नामों का ऐलान सोमवार को होगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अबडासा के विधायक प्रदुमन सिंह जाडेजा, लिंबड़ी के विधायक सोमा भाई पटेल, डांग के विधायक मंगल गावित, धारी के विधायक जे.वी. काकड़िया और गढ़डा के विधायक प्रवीण मारू ने अपना इस्तीफा दिया है। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष की तरफ से इस्तीफा देने वाले विधायकों के नामों की घोषणा कल की जाएगी। इस परिस्थिति में राज्यसभा सांसद के लिए कांग्रेस के पास पूरे विधायक ना होने के कारण सिर्फ एक ही सीट पर कांग्रेस जीत पाएगी।

संबंधित खबर : स्पा से मन उबा तो अब वृंदावन घूमना चाहते हैं मध्यप्रदेश के भाजपा विधायक

स परिस्थिति में बीजेपी को अपने तीन सांसद भेजने के लिए 105 विधायक चाहिए। वह उनके पास मौजूद है। लेकिन बाकी की 2 सीटों के लिए कांग्रेस अपने सांसदों को राज्यसभा ना भेज पाए उसके लिए यह पूरी माथापच्ची हो रही है। हालांकि सूत्रों के हवाले से यह भी खबर मिल रही है कि इन पांचों विधायकों के इस्तीफे के बाद छह और विधायक इस्तीफा देने वाले हैं लेकिन इस खबर की अबतक पुष्टि नहीं हो पायी है।

स्तीफा देने वाले पांचों विधायकों से संपर्क नहीं हो पा रहा है। वह किसी अज्ञात जगह पर हैं। कांग्रेस के सूत्र बता रहे हैं उनसे टेलिफोनिक संपर्क भी नहीं हो रहा है। हालांकि कांग्रेस के नेता और गुजरात विधानसभा के विपक्ष के नेता परेश धनानी ने इन सारी खबरों का खंडन करते हुए कहा कि कांग्रेस अपने कोटे की दोनों ही सीट पर राज्यसभा में सांसद भेजेगी। उन्होंने कांग्रेस में किसी भी तरह की फूट से इनकार किया। राज्यसभा के पिछले चुनाव में भी इसी तरह खरीद-फरोख्त की कई खबरें आई थी और उस समय भी कांग्रेस अपनी दोनों ही सीट पर अपने सांसद भेजने में सफल रही थी।

आंकड़ों पर नजर डालें तो एक राज्यसभा सांसद के लिए 35 वोट चाहिए। कांग्रेस के पास अभी पूरे विधायक है। परंतु पांच विधायक इस्तीफा दे देते हैं तो 2 सीटों पर राज्यसभा सांसद भेजने के लिए कांग्रेस के पास एक विधायक कम पड़ जाएगा। उस स्थिति में कांग्रेस गुजरात के कोटे में से सिर्फ एक ही उम्मीदवार को राज्यसभा भेज पाएगी। यह पूरी कवायद सिर्फ एक ही राज्यसभा सीट के लिए हो रही है।

पिछले राज्यसभा चुनाव में भी भाजपा के नेताओं पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगे थे और उस समय भी कांग्रेस के विधायकों को गुजरात से बाहर सुरक्षित जगह रखा गया था। शायद यही रणनीति अभी गुजरात में कांग्रेस की रहेगी और सूत्र बताते हैं कि कांग्रेस के सारे विधायकों को जयपुर भेजा जा रहा है ताकि भाजपा कोई खरीद-फरोख्त ना कर पाए।

स सारी माथा पच्ची में लोकतंत्र के ऊपर गहरे सवालिया निशान खड़े हुए हैं। लोगों ने अपने बेहद कीमती वोट से जिन विधायकों को चुना है। वह विधायक कुछ लोभ लालच और आर्थिक फायदे के लिए पार्टी और अपने इलाके के लोगों से धोखाधड़ी कर रहे हैं। यह लोकतंत्र के लिए बहुत गंभीर बात है।

कांग्रेस के कई विधायक आज विपक्ष के नेता परेश धनाणी और कांग्रेस के प्रमुख भरत सिंह सोलंकी से मिल रहे हैं। कई विधायकों ने उनकी उपेक्षा के भी आरोप लगाए और अपनी समस्याएं भी बताएं। हालांकि इस मीटिंग के बारे में ना ही किसी विधायक ने बताया और ना ही कांग्रेस के राज्य स्तर के नेतृत्व ने भी पत्ते खोले। परंतु कांग्रेस में जो अभी भूचाल आया हुआ है यह जमीनी स्तर पर दिख रहा है।

संबंधित खबर : जिन विधायकों को भाजपा ने रखा है छुपाकर गुड़गांव में, उनके पास नहीं है जरूरत का सामान

ह सारी माथा पच्ची राज्यसभा में अपने तीन सांसद भेजने की है। हालांकि गुजरात में कांग्रेस की सारी रणनीतियां अहमद पटेल और शक्ति सिंह गोहिल के इर्द-गिर्द ही रहती है। इस समय जयपुर के शिव विलास रिसोर्ट में कांग्रेस के कुछ विधायक मौजूद हैं और शाम तक और कई विधायक के पहुंचने की उम्मीद है।

प्रदेश कांग्रेस के बाद अब गुजरात कांग्रेस में भी बड़ा भूचाल आ चुका है हालांकि मध्य प्रदेश सरकार रहेगी या जाएगी वह सोमवार को पता चलेगा लेकिन इस समय गुजरात में कांग्रेस की स्थिति कोई अच्छी नहीं मानी जाती और कांग्रेस को अपने ही विधायकों को संभालना मुश्किल हो रहा है जबकि अफवाह ऐसी भी है कि 100 100 करोड़ में विधायक खरीदे गए इससे पहले अबडासा के विधायक प्रद्युमन सिंह जाडेजा कई बार बीजेपी मैं जुड़ने की बात कर चुके हैं यह कयास लगाए जा रहे थे कि वह बीजेपी में जाने वाले हैं।

गुजरात विधानसभा में 182 सीटें हैं हालांकि इस समय विधायकों की संख्या 180 है। इस हिसाब से राज्यसभा की एक सीट के लिए 36 वोट चाहिए, परंतु बीजेपी के पास अपने विधायक और अन्य विधायकों को मिलाकर 105 विधायक हैं।इस आंकड़े के अनुसार बीजेपी को दो राज्यसभा सांसद मिल सकते थे और अगर विधायकों की संख्या 175 होती है तो बीजेपी आसानी से अपने तीन सांसद राज्यसभा में भेज सकती है। अपने एक राज्यसभा सांसद को ज्यादा भेजने के लिए यह हॉर्स ट्रेडिंग बीजेपी ने करवाई है ऐसे आरोप कांग्रेस की तरफ से लगाए जा रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it