Top
राष्ट्रीय

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने भारत सरकार से लगाई गुहार- सारे पैसे ले लो, केस बंद कर दो

Manish Kumar
14 May 2020 6:44 AM GMT
भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने भारत सरकार से लगाई गुहार- सारे पैसे ले लो, केस बंद कर दो
x

विजय माल्या पर भारत में विभिन्न बैंकों के साथ 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) के आरोप हैं...

नई दिल्ली, जनज्वारः लंदन में रह रहे भगोड़े शराब के कारोबारी विजय माल्या ने ट्वीट कर मोदी सरकार को कोरोना संकट के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा करने के लिए बधाई दी है. इसके साथ ही माल्या ने सरकार से सारा केस वापस करने केी गुहार लगाई और कहा कि वह सारा पैसा देना चाहता है.

विजय माल्या की ओर से ट्वीट किया गया, ‘मैं सरकार को कोरोना वायरस संकट के बीच रिलीफ पैकेज की बधाई देता हूं. वो जितना पैसा छापना चाहें छाप सकते हैं, लेकिन उन्हें मेरे जैसे एक छोटे सहयोगकर्ता को इग्नोर करना चाहिए, जो बैंक का सारा पैसा वापस लौटाना चाहता है. शराब कारोबारी ने लिखा कि मुझसे सारा पैसा बिना शर्त के ले लीजिए और मामला खत्म कीजिए.



?s=20

बता दें माल्या पर भारत में विभिन्न बैंकों के साथ 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) के आरोप हैं. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा ऋण धोखाधड़ी मामले में माल्या की भूमिकाओं की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें- राष्ट्र के नाम संदेश में PM मोदी- ‘गौरवपूर्ण रहा हमारा इतिहास, जब समृद्ध था सोने की चिड़िया कहा जाता था’

ईडी ने पिछले कुछ वर्षों में धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की धाराओं के तहत माल्या की कई संपत्तियों को कुर्क किया है।

माल्या पहले भी कई बार ऐसे ट्वीट कर चुका है जिसमें उसने सारे पैसा चुकाने की बात कही है. गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में माल्या ने भारत प्रत्यर्पण के लिए लंदन हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ ब्रिटेन के सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी.

पीएम मोदी ने किया था आर्थिक पैकेज का ऐलान

प्रधानमंत्री मोदी ने रात आठ बजे से देश को संबोधित करते हुए कहा था, “आज एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा करता हूं। हाल में सरकार ने कोरोना संकट से जुड़ी जो आर्थिक घोषणाएं की थीं, जो रिजर्व बैंक के फैसले थे, और आज जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान हो रहा है, उसे जोड़ दें तो ये करीब-करीब 20 लाख करोड़ रुपए का है। ये पैकेज भारत की जीडीपी का करीब-करीब 10 प्रतिशत है। इस पैकेज में लैंड, लेबर, लिक्विडिटी और लॉज सभी पर बल दिया गया है।”

Next Story

विविध

Share it