जनज्वार विशेष

बलात्कार के आरोपों से आहत महंत ने सत्संग के दौरान ही काट डाला अपना लिंग

Janjwar Team
18 Jun 2018 11:30 AM GMT
बलात्कार के आरोपों से आहत महंत ने सत्संग के दौरान ही काट डाला अपना लिंग
x

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सत्संग में किसी व्यक्ति ने बलात्कारी बाबाओं का नाम लेते हुए कसा था व्यंग्य तो हुए इतना आहत कि धारदार हथियार से वहीं पर काट डाला अपना लिंग

जयपुर। एक तरफ संतों के चोले में सत्संग करने वाले तमाम बाबा बलात्कार के आरोपों में धरे जा रहे हैं तो दूसरी तरफ बलात्कारी संतों की कैटेगरी में भक्तों को अपनी तरफ इशारा करते देख एक महंत इतना आहत हो गया कि उसने अपना लिंग ही काट डाला।

यह घटना है राजस्थान के नारनौल अलवर बॉर्डर के माढ़ण कस्बे के समीप जंगल में बसे सिद्ध सेवावाली सेवागिरि धाम की, जहां के महंत पंडित अनिल पुरोहित ने आश्रम में 15 जून की रात को सत्संग के दौरान ही अपना गुप्तांग काट डाला।

लिंग काटने के बाद उनकी हालत खराब हो गई तो उन्हें बहरोड़ के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां के चिकित्सकों ने घायल महंत को गम्भीर अवस्था में एम्बुलेंस से देर रात जयपुर भेज दिया। ​फिलहाल महंत का इलाज जयपुर के अपेक्स अस्पताल में जारी है।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक बाबाओं—महंतों को लेकर आए दिन बलात्कार ओर यौन उत्पीड़न की घटनाओं के बारे में सत्संग के दौरान जब एक भक्त ने तंज कसा तो अनिल पुरोहित इतना आहत हो गए कि उन्होंने उसी समय अपना लिंग काट डाला। इस घटना से वहां पर भारी हड़कंप मचा, और लहुलूहान हालत में अनिल पुरोहित को अस्पताल पहुंचाया गया।

सत्संग में मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जब 30 वर्षीय अनिल पुरोहित जो अपने भक्तों के बीच शास्त्री जी के नाम से जाने जाते हैं, सत्संग कर रहे थे और भक्तों को कुछ ज्ञान दे रहे थे, उसी दौरान एक व्यक्ति ने कहा कि अगर आप असल साधु हो तो सांस्कारिक बन्धन से आपका क्या मतलब। हरियाणा के रेवाड़ी से आए एक भक्त ने बलात्कारी आसाराम, राम रहीम जैसे कथित संतों का उदाहरण देकर अनिल पुरोहित पर भी कड़वे व्यंग कसते हुए कहा कि आप सच्चे साधु संत हो इसका पता तब चलेगा जब आप अपना लिंग कटवा कर फेंक दोगे। इसी बात पर पर अनिल पुरोहित को पता नहीं क्या हुआ कि वह मंदिर के अंदर गए और धारदार हथियार से अपना लिंग काट डाला।

सत्संग के दौरान भक्तों में यह चर्चा भी चली थी कि जिस तरह आसाराम, राम रहीम और तमाम छदम बाबाओं ने महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न—बलात्कार किया, उसी तरह हो सकता है अनिल पुरोहित भी महिला भक्तों का फायदा उठाता हो।

गौरतलब है कि आसाराम और राम रहीम के बाद हाल ही में शनिधाम के संस्थापक दाती महाराज पर एक शिष्या ने बलात्कार के आरोप लगाए हैं। रेप के आरोप लगने के बाद से दाती महाराज गायब है और मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच द्वारा की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it