Top
आंदोलन

हरिद्वार जिला प्रशासन ने ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद को AIIMS के बाहर लावारिस हालत में छोड़ा

Janjwar Team
9 March 2020 2:40 AM GMT
हरिद्वार जिला प्रशासन ने ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद को AIIMS के बाहर लावारिस हालत में छोड़ा
x

मातृसदन के मुताबिक आत्मबोधानंद को डिस्चार्ज करना तो दूर इस संबंध में कोई वार्ता तक नहीं की। हरिद्वार आने के बाद आत्मबोधानंद को साजिश के तहत डिस्चार्ज कर दिया...

जनज्वार। गंगा को बचाने के लिए अनशन कर रहे मातृ सदन के स्वामी आत्मबोधानंद को 22 फरवरी को हरिद्वार जिला प्रशासन ने दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया था। इसके बाद आत्मबोधानंद को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। लेकिन डिस्चार्ज होते ही ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद ने वहीं पर गैलरी में बैठकर आमरण अनशन शुरू कर दिया।

त्मबोधानंद ने गंगा रक्षा के लिए 36 दिन पूर्व अनशन शुरू कर दिया था। 20 दिन पहले उन्होंने जल लेना भी त्याग दिया था। इसके बाद हरिद्वार जिला प्रशासन ने उन्हें एम्स दिल्ली में भर्ती कराया। अब उनके स्वास्थ्य में सुधार होने पर बृहस्पतिवार को एम्स प्रशासन ने डिस्चार्ज कर दिया लेकिन वह हरिद्वार नहीं आए बल्कि वहीं पर अस्पताल की गैलरी में बैठकर दोबारा से अनशन शुरू कर दिया।

संबंधित खबर : आत्मबोधानंद के लिए यह समय संन्यासी से संग्रामी बनने का है प्राण त्यागने का नहीं

हीं मातृ सदन के स्वामी शिवानंद सरस्वती महाराज ने कहा कि वे बृहस्पतिवार 5 मार्च को एम्स दिल्ली गए थे और अपने दोनों शिष्यों के हालचाल जाना। उन्होंने कहा कि वह दोपहर बाद तक एम्स में रुके रहे लेकिन उनके सामने आत्मबोधानंद को डिस्चार्ज करना तो दूर इस संबंध में कोई वार्ता तक नहीं की। हरिद्वार आने के बाद आत्मबोधानंद को साजिश के तहत डिस्चार्ज कर दिया।

सदन के स्वामी निगमानंद ने रविवार 8 मार्च को अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'विगत 19 फरवरी को जल त्यागने के जितने घंटे बाद 22 फरवरी को हरिद्वार प्रशासन ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद को अपने साथ ले जाकर एम्स दिल्ली में भर्ती करवाया था, आज ड्रिप हटाये हुए उतने ही घंटे (72) बीत चुके हैं लेकिन वहीं प्रशासन उनको लावारिश अवस्था में एम्स दिल्ली के C2 वार्ड की गैलरी में छोड़े हुए है और उनके मृत्यु का इंतजार कर रहा है।'

संबंधित खबर : साध्वी पदमावती के स्वास्थ्य और मोदी सरकार को सदबुद्धि के लिए एम्स में प्रार्थना सभा करेगा गंगा सद्भावना मंच

ससे पहले सांसद रेवती रमन सिंह और जल पुरूष श्राजेन्द्र सिंह एम्स दिल्ली पहुंचकर आईसीयू में भर्ती साध्वी पद्मावती और स्वामी आत्मबोधानंद से मिलने पहुंचे। इससे पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह भी दोबारा एम्स पहुंचकर साध्वी पद्मावती और आत्मबोधानंद से मिले थे।

गंगा बचाने के लिए लगातार 65 दिनों तक अनशन पर बैठने वाली साध्वी पद्मावती भी इन दिनों दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। साध्वी पद्मावती को 17 फरवरी को एम्स में भर्ती करवाया गया था।

स्वामी आत्मबोधानंद के अनशन को लेकर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने एक ट्वीट में लिखा, गंगा जी के लिये 16 दिन से जलत्याग कर तपस्या करने वाले स्वामी आत्मबोधानन्द को हरिद्वार पुलिस मातृसदन से एम्स लाई। अब वे वहां अकेले गैलरी में बैठे हैं। क्या हालत है इस सरकार में तपस्वियों की?'

Next Story
Share it