जनज्वार विशेष

मोदी सरकार के धारा 370 खत्म करने पर विदेशी मीडिया बोला कैद में है कश्मीर

Prema Negi
7 Aug 2019 10:41 AM GMT
मोदी सरकार के धारा 370 खत्म करने पर विदेशी मीडिया बोला कैद में है कश्मीर
x

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार तनाव और हिंसा के लिए एक नया मंच तैयार कर दिया गया है। इस कदम से केंद्र और कश्मीरियों के बीच सम्बन्ध में और खटास आयेगी...

महेंद्र पाण्डेय की रिपोर्ट

मोदी सरकार द्वारा धारा 370 खत्म करने के बाद जो कुछ भी जम्मू कश्मीर में चल रहा है, उस पर लगभग सभी विदेशी समाचार पत्रों ने समाचार प्रकाशित किये हैं। ज्यादातर मीडिया संस्थानों ने इसे कश्मीर विरोधी फैसला करार दिया है। सीएनएन के अनुसार कश्मीर कैद में है, सामान्य जनजीवन ठप्प है और कश्मीरियों के लिए ये सारी घटनाएं किसी मनोवैज्ञानिक झटके से कम नहीं हैं।

सने आगे लिखा है कि भारत की हिन्दू राष्ट्रवादी सरकार ने देश को हिन्दू राष्ट्र बनाने के लिए अपने एजेंडे के अनुसार एक बड़ा कदम उठाया है। वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार तनाव और हिंसा के लिए एक नया मंच तैयार कर दिया गया है। इस कदम से केंद्र और कश्मीरियों के बीच सम्बन्ध में और खटास आयेगी।

पाकिस्तान के समाचारपत्र डॉन के अनुसार राष्ट्रपति द्वारा जल्दीबाजी में और बिना सोचे-समझे दिए गए आदेश से कश्मीर में जनसंख्या के समीकरण बदल जायेंगे और जिस कश्मीरियत पर लोगों को नाज था वह मर जायेगी। 5 अगस्त को भारतीय संविधान का गला घोंट दिया गया।

यह भी पढ़ें : जिस कश्मीर से धारा 370 हटाने पर मन रहीं इतनी खुशियां उसमें शामिल नहीं हैं कश्मीरी!

न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार केंद्र सरकार के एकतरफा कदम से एक झटके में कश्मीर की स्वायत्तता और विशेष स्वरूप समाप्त हो गया। अल ज़जीरा के अनुसार 5 अगस्त 2019 को एक काले अध्याय के तौर पर याद किया जाएगा।

संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका ने लोगों और सरकार को भी संयम बरतने की सलाह दी है। संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टेफेना दुजारिक ने कहा, हम सभी पक्षों से संयम बरतने का निवेदन करते हैं। संयुक्त राष्ट्र के शांतिप्रहरी नियंत्रण रेखा पर नजर रखे हुए हैं, जहां भारत और पाकिस्तान की तरफ सैन्य गतिविधियां अचानक बढ़ गयी हैं।

मेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट की प्रवक्ता मॉर्गन ओर्तागस ने कहा की नियंत्रण रेखा के दोनों तरफ शान्ति और स्थिरता बनाए रखना आवश्यक है। भारत सरकार के अनुसार यह उनका आतंरिक मामला है।

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार भारत सरकार का कदम कश्मीर के लिए खतरनाक है। द गार्डियन ने लिखा है कि इससे कश्मीर में नाटकीय परिवर्तन आयेंगे और पाकिस्तान के साथ तनाव और बढेगा। बीबीसी ने लिखा है, इससे कश्मीर घाटी के हालात और बिगड़ेंगे और पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल बनेगा।

Next Story

विविध

Share it