Top
सिक्योरिटी

तो मध्यप्रदेश के नए 'नाथ' होंगे 'कमल'

Prema Negi
12 Dec 2018 3:18 PM GMT
तो मध्यप्रदेश के नए नाथ होंगे कमल
x

जिस बैठक के बाद कमलना​थ को मुख्यमंत्री बनाए जाने की बात ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की, उसमें कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों के अलावा कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दीपक बावरिया समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे....

जनज्वार। मध्य प्रदेश में 'कौन बनेगा मुख्यमंत्री' का संशय अब लगभग खत्म हो गया है। संशय इसलिए बना हुआ था क्योंकि मुख्यमंत्री पद के लिए दो कड़े दावेदार थे। पहला नाम प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का था तो दूसरा नाम कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का।

इन कयासों को इसलिए भी बल मिल रहा था क्योंकि कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हैं तो सिंधिया प्रचार चुनाव समिति के अध्यक्ष रहे और एमपी में मिली बड़ी कामयाबी के बाद दोनों के समर्थकों ने दोनों को मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर जमकर नारेबाजी भी की थी, मगर अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद कमलनाथ का नाम आगे बढ़ाकर इन कयासों पर विराम लगाने का काम किया है।

गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से मध्य प्रदेश में बीजेपी सत्तासीन रही है। मगर इस बार जनता ने कांग्रेस के पक्ष में वोटिंग कर साफ कर दिया कि अब जुमलेबाजियां ज्यादा नहीं सही जाएंगी। इस चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़े दल के रूप में उभरी और 114 सीटें हासिल कीं। 2 सीटों के साथ बहुजन समाज पाटी, 1 सीट के साथ समाजवादी पार्टी और 4 निर्द​लीय विधायकों ने भी कांग्रेस को अपना समर्थन दे दिया है।

जनता को उम्मीद जगी है कि कांग्रेस किसानों और युवाओं के रोजगार के मसले को प्राथमिकता पर लेगी, जिसकी तरफ कल 11 दिसंबर को जीत हासिल करने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इशारा भी किया। कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता में किसानों और युवाओं के मुद्दे प्राथमिकता में हैं।

गौरतलब है कि वरिष्ठ कांग्रेसी कमलनाथ के नाम पर मुहर लगने से पहले मध्य प्रदेश में कांग्रेस विधायकों की बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया था कि मुख्यमंत्री के नाम पर फैसला कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी लेंगे।

हालांकि कांग्रेस की परंपरा के अनुसार कमलनाथ के नाम पर अंतिम मुहर और औपचारिक घोषणा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे और अभी भी संशय बरकरार है। जिस बैठक के बाद कमलना​थ को मुख्यमंत्री बनाए जाने की बात ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की, उसमें कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों के अलावा कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दीपक बावरिया समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

Next Story

विविध

Share it