राजस्थान

जोधपुर में दोहराई गयी अमेरिका के फ्लॉयड जैसी क्रूरता, पुलिस ने मास्क न पहनने पर बुरी तरह दबोची गर्दन

Prema Negi
5 Jun 2020 10:35 AM GMT
जोधपुर में दोहराई गयी अमेरिका के फ्लॉयड जैसी क्रूरता, पुलिस ने मास्क न पहनने पर बुरी तरह दबोची गर्दन
x

वीडियो में एक पुलिस वाले को उसकी गर्दन को अपने घुटने से दबाते हुए दिखाया गया है, जबकि दो अन्य पुलिस जवान उसके पैरों को पकड़े हुए हैं। इस दौरान हाथापाई होने पर भारी भीड़ जमा हो गई...

जयपुर, जनज्वार। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो है, जिसमें अमेरिका में अश्वेत नस्ल के जॉर्ज फ्लॉयड जैसी ही घटना सामने आ रही है। जिस तरह जॉर्ज फ्लॉयड को अमेरिकी पुलिसकर्मी ने गर्दन दबोचकर मौत के घाट उतारा था, उसका रिमैक जोधपुर में दोहराया गया। हालांकि यहां पुलिस का शिकार बना व्यक्ति बच गया बल्कि पुलिस पर उल्टा हमलावर हो गया था।

सोशल मीडिया पर जोधपुर पुलिस द्वारा एक व्यक्ति की गर्दन दबोचने वाला वीडियो जोधपुर का है, जिसमें पुलिसकर्मी एक व्यक्ति को बिना मास्क पहने घूमने के चलते जमीन पर पटकता है, फिर उसकी गर्दन को अपने घुटनों से दबाता है। हालांकि यह घटना अमेरिका से थोड़ा अलग इसलिए है, क्योंकि जोधपुर में पुलिस ने व्यक्ति के हिंसक होने के बाद ऐसी हरकत की।

यह भी पढ़ें : अश्वेत की मौत के बाद व्हाइट हाउस तक पहुंचा प्रदर्शन, बंकर में रखे गए डोनाल्ड ट्रंप

जोधपुर वाली घटना में बताया जा रहा है कि मुकेश कुमार प्रजापत मानसिक रूप से बीमार है और पुलिस के सामने आने के बाद वह हिंसक हो गया था।

गौरतलब है कि इससे पहले अमेरिका के मिनियापोलिस में एक दुकान के बाहर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद 46 वर्षीय अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन पुलिसकर्मी ने बुरी तरह दबोची थी, जिसमें उसकी मौत हो गई थी। फुटेज में एक पुलिस अधिकारी, डेरेक चौविन को दिखाया गया था, जो फ्लॉयड की गर्दन पर कई मिनट तक घुटने रखे रहा, जिससे सांस न ले पाने के कारण फ्लॉयड की मौत हो गई। इसका पूरे अमेरिका में विरोध हुआ।

यह भी पढ़ें : भारत में अल्पसंख्यकों पर पुलिसिया उत्पीड़न की इंतहा तो अमेरिका में भी अश्वेतों पर पुलिस कर रही भरपूर अत्याचार

हालांकि, जोधपुर की घटना में मुकेश कुमार प्रजापत के रूप में शामिल व्यक्ति की मौत नहीं हुई, बल्कि वह पुलिसकर्मी से लड़ने लगा।

जोधपुर के पुलिस अधिकारियों ने पुष्टि की कि वीडियो शहर में गुरुवार 4 जून को शूट किया गया था। जब बिना मास्क पहने सड़कों पर घूमने के कारण पुलिस ने उस आदमी के खिलाफ चालान जारी करना चाहा तो उसने पुलिस को चकमा दिया।

यह भी पढ़ें : अमेरिका में पत्रकारों पर पुलिसिया बर्बरता क्योंकि ट्रंप मानते हैं मीडिया को दुश्मन

वीडियो में एक पुलिस वाले को उसकी गर्दन को अपने घुटने से दबाते हुए दिखाया गया है, जबकि दो अन्य पुलिस जवान उसके पैरों को पकड़े हुए हैं। इस दौरान हाथापाई होने पर भारी भीड़ जमा हो गई।

स मामले में देव नगर पुलिस स्टेशन के एसएचओ सोमकरन ने कहा कि पुलिस प्रजापत को चालान जारी कर रही थी, क्योंकि उसने उन पर हमला किया और उनकी वर्दी फाड़ दी। प्रजापत के खिलाफ प्रताप नगर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है। उसे अब अदालत में पेश किया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it