Top
दुनिया

अश्वेत की मौत के बाद व्हाइट हाउस तक पहुंचा प्रदर्शन, बंकर में रखे गए डोनाल्ड ट्रंप

Nirmal kant
1 Jun 2020 3:19 PM GMT
अश्वेत की मौत के बाद व्हाइट हाउस तक पहुंचा प्रदर्शन, बंकर में रखे गए डोनाल्ड ट्रंप
x

अमेरिका की राजधानी में अफ्रीकी अमेरिकी अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के विरोध में रविवार को लगातार तीसरे दिन भी प्रदर्शन हुआ, यह प्रदर्शन व्हाइट हाउस तक पहुंच गया है....

जनज्वार ब्यूरो। अमेरिका के मिनीसोटा प्रांत के मिनयापोलिस शहर में एक अफ्रीकी अमेरिकी व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉएड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद विरोध प्रदर्शन व्हाइट हाउस तक पहुंच गया है। व्यापक प्रदर्शन को देखते हुए वाशिंगटन डीसी में कर्फ्यू लगा दिया गया। एसोसिएटेड प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक सुरक्षा को देखते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में रखा गया।

वाशिंगटन डी.सी की मेयर मूरियल बोसर ने कहा कि मिनियापोलिस की पुलिस हिरासत में एक निहत्थे अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद व्हाइट हाउस के बाहर रविवार रात को प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर वह शहरव्यापी कर्फ्यू लगा रही हैं।

न्होंने बयान जारी कर कहा कि कर्फ्यू (अमेरिकी समयानुसार) 31 मई रविवार रात 11 बजे से 1 जून सोमवार सुबह 6 बजे तक लागू रहा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उन्होंने स्थानीय पुलिस के समर्थन के लिए डीसी नेशनल गार्ड को भी बुलाया है। अमेरिका की राजधानी में फ्लॉयड की मौत के विरोध में रविवार को लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन हुआ।

संबंधित खबर : दो साम्राज्यवादी दादाओं की जंग में पिस रही दुनिया, WHO के अस्तित्व पर सवाल

वाशिंगटन डीसी के चीफ ऑफ पुलिस पीटर न्यूजहैम ने कहा, 'मेट्रोपॉलिटन पुलिस डिपार्टमेंट ने शनिवार रात 17 लोगों को गिरफ्तार किया और विरोध-प्रदर्शन के दौरान 11 पुलिस अधिकारी घायल हो गए हैं।'

ता दें कि मियापोलिस शहर में 25 मई की शाम जॉर्ज फ्लॉएड सिगरेट खरीदने जाते हैं। अफ्रीकी मूल के फ्लॉएड 20 डॉलर का नोट देकर सिगरेट का बंडल लेते हैं। स्टोर के एक किशोर कर्मचारी को शक होता है कि 20 डॉलर का नोट नकली हो सकता है। कर्मचारी पुलिस को सूचित करता है। प्रशासन द्वारा जारी की गई टेलिफोनिक ट्रांस्क्रिप्ट के मुताबिक, स्टोर ने फ्लॉएड से सिगरेट का बंडल वापस को करने को कहा। लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया।

सको बात किशोर कर्मचारी पुलिस को फोन पर सूचित करता है कि एक शख्स के नशे में लग रहा है और उसका खुद पर नियंत्रण नहीं है। इसके कुछ देर बाद ही वहां दो श्वते पुलिस अधिकारी पहुंचते हैं। फिर पुलिस को सड़क पर ही पार्क एक कार दिखती है जिसमें फ्लॉएड दो लोगों के साथ बैठे हुए थे।

बाद पुलिस अधिकारी थॉमस लेन कार के पास पहुंचकर पिस्टल तानते हुए फ्लॉएड से हाथ उठाने के लिए कहा। पुलिस अधिकारी लेन ने फ्लॉएड को कार से बाहर निकाला। हथकड़ी लगने के बाद फ्लॉएड को बताया गया कि उन्हें नकली मुद्रा इस्तेमाल करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा रहा है।

सके बाद अधिकारियों ने फ्लॉएड को गाड़ी में डाला। फ्लॉएड ने पुलिस को बताया कि वह क्लॉस्ट्रोफोबिक (एक ऐसा व्यक्ति जिसे तंगहाल जगहों से डर लगता हो) है। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने उन्हें फुटपाथ पर बैठा दिया।

संबंधित खबर : इवांका ट्रंप आप कभी ज्योति कुमारी के दर्द को नहीं समझ सकतीं

भी मौके पर शॉविन नाम के एक और पुलिस अधिकारी पर पहुँचा। उन्होंने दूसरी तरफ से फ्लॉएड को जबरन कार में ठूंसने को कोशिश की। फ्लॉएड फिर गिरे लेकिन इस बार शॉविन ने अपना बायां घुटना फ्लॉएड की गर्दन पर रख दिया। दो और अधिकारी ज़मीन पर गिरे फ्लाएड को दबाते रहे। फ्लॉएड की गर्दन 8 मिनट 46 सेकेंड तक पुलिस के घुटने के नीचे दबी रही। फ्लॉएड शुरुआत से कहने लगे कि 'आई कान्ट ब्रीद (मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं)।' ये उनके आखिरी शब्द थे।

र्दन दबने के करीब छह मिनट बाद फ्लॉएड के शरीर ने कोई भी हरकत करना बंद कर दिया। इसके बाद पुलिस ने 46 साल के फ्लॉएड की नब्ज टटोलनी चाहिए लेकिन वह गायब थी। इस दौरान भी फ्लॉएड की गर्दन दबी हुई थी। गर्दन दबने के करीब छह मिनट बाद फ्लॉएड के शरीर ने कोई भी हरकत करना बंद कर दिया। इसके बाद पुलिस ने 46 साल के फ्लॉएड की नब्ज टटोलनी चाहिए लेकिन वह गायब थी। इस दौरान भी फ्लॉएड की गर्दन दबी हुई थी। इस घटना के बाद से पूरे अमेरिका में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it