Top
राजनीति

यूपी में भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाले पत्रकार के मुंह में दरोगा ने की पेशाब

Prema Negi
12 Jun 2019 5:47 AM GMT
यूपी में भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाले पत्रकार के मुंह में दरोगा ने की पेशाब
x

पिटाई करने के बाद एसएचओ ने पत्रकार को हिरासत में डाल दिया और उसके कपड़े उतारकर किया नंगा और मुंह में कर दी पेशाब...

जनज्वार। पुलिस वालों की दबंगई आये दिन बढ़ती जा रही है। आम जनता तो छोड़िए अब लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारों के साथ भी वो अमानवीयता और गुंडागर्दी पर उतारू हो गये हैं। कठुआ कांड में मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप और नृशंस हत्या में पुलिसवाले शामिल थे, इसके अलावा और अनगिनत घटनाओं में उनकी गुंडागर्दी जगजाहिर हो चुकी है।

हालिया मामला उत्तर प्रदेश का है, जहां कल 11 जून को शामली में जीआरपी एचएचओ राकेश कुमार ने न्यूज 24 के पत्रकार अमित शर्मा के साथ न केवल मारपीट, गुंडागर्दी की बल्कि इंसानियत को भी शर्मसार कर दिया। पीड़ित पत्रकार के मुताबिक एसएचओ राकेश कुमार के इशारे पर उन्हें नंगा कर न केवल उनके साथ अमानवीय कृत्य किया गया, बल्कि जबरन मुंह में पेशाब किया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि उन्होंने अवैध वेंडर के खिलाफ एक खबर की थी, जिस कारण पुलिसवाले नाराज थे।

फिलहाल इस मामले में पिटाई करने के मुख्य आरोपी जीआरपी एचएचओ राकेश कुमार को सस्‍पेंड कर द‍िया गया है। राकेश कुमार के अलावा कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार को भी पत्रकार के साथ गुंडागर्दी और अमानवीयता के लिए सस्पेंड किया गया है।

लॉकअप में बंद पत्रकार बाकायदा एसओ की मौजूदगी में बता रहा है कि उसके मुंह में पेशाब किया गया है, मगर मीडिया के सामने योगी सरकार का यह एसएचओ कहता है जो दिखाना है दिखाओ, कोई फर्क नहीं पड़ता है।

के मुताबिक उत्तर प्रदेश के शामली जिले में पत्रकार अमित शर्मा पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने गए थे। इसी दौरान जीआरपी एसएचओ राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार ने उनके साथ बदसलूकी की, जब अमित शर्मा ने भी उन्हें जवाब दिया तो उन्हें खींचकर जीआरपी हिरासत में ले गये और वहां न केवल उनको पीटा गया, बल्कि उन्हें नंगा कर उनके मुंह में पेशाब कर दिया।

इस घटना के खिलाफ पत्रकारों ने आरोपी पुलिसवालों के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया और उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

पीड़‍ित पत्रकार अमित शर्मा के मुताबिक, उनकी बहुत ज्यादा पिटाई करने के बाद पुलिसकर्मियों ने उन्‍हें हिरासत में डाल दिया। हिरासत में लेने के बाद उनके कपड़े उतारकर उन्हें नंगा किया गया और उनके मुंह में पेशाब कर दी गई।

अमित शर्मा कहते हैं कि जिन पुलिसकर्मियों एसएचओ राकेश कुमार और कान्स्टेबल संजय पवार ने उनके साथ यह बदसलूकी और अमानवीयता, गुंडागर्दी की वे सादी वर्दी में थे और उन्होंने घटनास्थल पर ही गाली गलौज और मारपीट शुरू कर दी। अमित शर्मा के अलावा अन्य मीडियाकर्मियों का माइक भी छीन लिया गया। अमित शर्मा की पिटाई का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

अमित शर्मा ने आरोप लगाया है कि जब वो घटना का फोटो खींच रहे थे तो पुलिसवाले उनसे कैमरा छीनने लगे। इसी छीनाझपटी में कैमरा भी टूट गया। वह कैमरा उठाने के लिए झुके तो सादी वर्दी में वहां मौजूद एसएचओ राकेश कुमार ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया और भद्दी भद्दी गालियां दीं।

पुलिसकर्मी अमित शर्मा को करीब 200 मीटर तक पीटते हुए ले गये और उसके बाद लॉकअप में बंद कर दिया। लॉकअप में बंद करने के बाद मुंह में पेशाब कर दिया। पुलिसवालों ने उनके साथ ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्होंने अवैध वेंडर के खिलाफ खबर की थी, जिससे पुलिसवाले उनसे नाराज थे और उन्हें डराना-धमकाना चाहते थे ताकि भविष्य में वो भ्रष्टाचार उजागर न करें।

Next Story

विविध

Share it