Top
राजनीति

कन्हैया कुमार के काफिले पर बिहार के सारण में हुआ हमला

Vikash Rana
1 Feb 2020 8:14 AM GMT
कन्हैया कुमार के काफिले पर बिहार के सारण में हुआ हमला
x

शनिवार को हवाईअड्डा में कन्हैया कुमार की जनसभा होने के कारण कन्हैया कुमार सिवान से छपरा की तरफ जा रहे थे...

जनज्वार। सीपीआई के नेता और जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के काफिले पर पथराव हुआ है। सारण जिले में कोपा के पास उनके काफिले के ऊपर पथराव किया गया, जिसके बाद से उनके काफिले को रोक दिया गया।

थराव के कारण कन्हैया के काफिले में चल रही दो गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई है। इसके अलावा घटना में कुछ लोगों को गंभीर चोटें भी आई है। शनिवार को हवाईअड्डा में कन्हैया कुमार की जनसभा होने के कारण कन्हैया कुमार सिवान से छपरा की तरफ जा रहे थे। इसी बीच कन्हैया समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प हुई, जिसमें कुछ लोगों के घायल होने की सूचना है।

संबंधित खबर: कन्हैया कुमार बिहार के चंपारण से हुए गिरफ्तार, जन-गण-मन यात्रा में हुए थे शामिल

सी दौरान सरस्वती पूजा विसर्जन में जा रहे कुछ आसामजिक तत्वों ने कन्हैया कुमार के काफिले पर पथराव कर दिया। सारण जिले के पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय ने मीडिया को बताया कि कन्हैया कुमार इस हमले में पूरी तरह से सुरक्षित है।

स मसले पर जलालपुर के अंचलाधिकारी ने मीडिया को बताया कि असामाजिक तत्वों ने जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार के काफिले पर हमला किया। स्थानीय पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 10 मिनट में हालात को सामान्य कर लिया, जिसके बाद कन्हैया का काफिला छपरा के लिए रवाना हो गया। वहीं पथराव के दौरान फोटो खींच रहे कई लोगों के कैमरे को भी उपद्रवियों ने छीन लिया, जिसे बाद में दिलवाया गया।

[yotuwp type="videos" id="7Bq8q0DWz7Q" ]

न्हैया के काफिले पर हुए हमले के मामले में पुलिस ने छपरा स्थित दहियावां टोला में जदयू सांसद कविता सिंह के पति अजय सिंह को पुलिस हाउस अरेस्ट किया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कन्हैया का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद अजय सिंह को छोड़ देंगे।

नेता कन्हैया कुमार आज 1 फरवरी को सिवान से कोपा पुलिस लाइन में सभा के लिए छपरा आए हुए थे। जैसे ही कन्हैया कोपा में सभा के लिए निकले, कुछ लोग उनका विरोध करते हुए नारे लगाने लगे और इसी बीच उनके काफिले में शामिल कुछ वाहनों पर पथराव किया गया। पथराव के बाद कन्हैया समर्थकों और विरोधियों के बीच हाथापाई हुई, जिसमें कुछ लोगों के घायल होने की बात सामने आयी। खबर यह भी है कि पथराव के कारण दो से तीन गाड़ियां भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। हमले में मीडिया को निशाना बनाया गया, कई फोटोग्राफर्स से कैमरे छीन लिए गए। बाद में पुलिस ने कैमरे वापस दिलवाये।

है कि 30 जनवरी को ही कन्हैया को पुलिस ने चंपारण में CAA-NRC के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिया था। तब कन्हैया ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर जानकारी देते हुए लिखा कि बापू-धाम (चम्पारण) में गांधीजी को नमन करके ग़रीब-विरोधी CAA-NRC—NPR के विरोध में एक महीने की जन-गण-मन यात्रा की शुरूआत होनी थी। समाज के सभी तबक़ों के लोग इस यात्रा में शामिल होने के लिए मौजूद रहे, लेकिन प्रशासन ने कुछ देर पहले हम सबको हिरासत में ले लिया। इसके विरोध में लोगों ने भितिहरवा में गांधी आश्रम (चम्पारण) के बाहर शांतिपूर्ण धरना शुरू कर दिया।

Next Story
Share it