Top
राजनीति

यूपी के अधिकारियों ने कांवड़ियों पर बरसाए 14 लाख के फूल

Prema Negi
10 Aug 2018 12:44 PM GMT
यूपी के अधिकारियों ने कांवड़ियों पर बरसाए 14 लाख के फूल
x

जो सरकार रोजगार मांगने पर लाठी देती है और गोलियां मारती है, बचपन में कुपोषण दूर करने वाले अन्न को भ्रष्टाचारियों के हवाले कर देती है, वही सरकार नौजवानों को धर्मांध बना मूर्खता बांटने में अव्वल साबित हो रही है, क्योंकि धर्म का अफीम सर्वाधिक नशा देता है...

जनज्वार। गाय, गौरक्षा और कांवड़ में रमे उत्तर प्रदेश के साधु मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश शासनाधिकारियों की प्राथमिकता में धर्मांधता घोल दी है। हालत यह है कि योगी के शासन काल में बच्चे भले अस्पताल में बिना आक्सीजन के मर जाएं, लड़कियां भले बालिका गृहों से कोठे पर पहुंच जाएं, लेकिन कांवड़ियों पर फूल वर्षा कार्यक्रम में कोई कोताही नहीं होगी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने खुद स्वीकार किया है उसके अधिकारियों ने हेलीकाप्टर से 2 दिन जो फूल बरसाए हैं, उसका खर्चा 14.31 लाख है। इसमें अभी फूल और अन्य खर्च नहीं जुड़ा है, यह सिर्फ दो दिनों के हेलीकाप्टर का किराया है।

जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार शिवमंदिर में महाआरती में शरीक होते हुए

इकोनॉमिक टाइम्स में अमन शर्मा की बाइलाइन छपी खबर के अनुसार, अखबार को फूल वर्षा के खर्चे की एक कॉपी हाथ लगी है, जिसमें उत्तर प्रदेश सरकार ने हेलीकॉप्टर के लिए 'एयर चार्टर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड' को 7 से 9 अगस्त तक कावड़ियों पर फूल वर्षा के लिए जो हेलीकॉप्टर लिया गया है, उसके किराए के रूप में 14.31 लाख रुपया भुगतान किया है।

फूल वर्षा का काम पुलिस अधिकारियों ने किया है, जिसमें मेरठ और आसपास के जिले शामिल हैं। हेलीकॉप्टर किराए पर लेने की अनु​मति गृह मंत्रालय द्वारा 5 अगस्त को एक पत्र जारी कर दी गयी है।

हेलीकॉप्टर में बैठ फूल वर्षा करते दिख रहे पुलिस अधिकारी का नाम प्रशांत कुमार है। प्रशांत मेरठ मंडल के आईजी हैं और वे मीडिया को बता चुके हैं कि फूल वर्षा करने की उनकी ड्यूटी सरकार ने लगाई थी।

यहीं नहीं रुकी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली जिले के जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार और अपर पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार तो मुख्यमंत्री की दिली इच्छा को भांपते हुए पूरे फौज—फाटे के साथ शामली के शिवमंदिर की महाआरती में शरीक हुए। तस्वीर में साफ—साफ जिले के सभी बड़े अधिकारी देखे जा सकते हैं।

Next Story

विविध

Share it